लोगों को रोगमुक्त करता रहा है रामकृष्ण मिशन : राष्ट्रपति

 मथुरा, 28 नवंबर (आईएएनएस)| राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने यहां गुरुवार को कहा कि जिस तरह से भगवान श्री कृष्ण ने लोगों को अत्याचारों से मुक्ति दिलाई थी, ठीक उसी तर्ज पर रामकृष्ण मिशन लोगों को बीमारियों से मुक्ति दिला रहा है।

 रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रपति ने कहा, “महायोगी भगवान कृष्ण ने जनसाधारण को अत्याचार से मुक्ति दिलाने के लिए यहां जन्म लिया और वृंदावन को अपनी लीला भूमि बनाया। जिस तरह भगवान श्रीकृष्ण ने लोगों को अत्याचारों से मुक्ति दिलाई थी, ठीक उसी तर्ज पर रामकृष्ण मिशन लोगों को बीमारियों से मुक्ति दिला रहा है।”

कोविंद ने कहा, “112 साल पहले जिस चार बेड के अस्पताल ने अपनी सेवा शुरू की थी, वह आज कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का उपचार अत्याधुनिक तकनीक से करेगा। मिशन ने भगवान कृष्ण की इस पावन भूमि को चुना, इसके लिए मिशन को बधाई देता हूं। इस संस्था से महात्मा गांधी एवं अन्य बड़ी हस्तियां सदैव जुड़ी रही हैं।”

रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में कार्यक्रम के बाद राष्ट्रपति बांकेबिहारी मंदिर गए। राष्ट्रपति ने बांकेबिहारी के दर्शन-पूजन किए। उस दौरान आम भक्तों के लिए मंदिर के पट बंद कर दिए गए। यहां तक कि वहां के सेवादारों को भी बाहर कर दिया गया।

बांकेबिहारी के दर्शन के बाद राष्ट्रपति का काफिला परिक्रमा मार्ग स्थित निकुंजवन और फिर अक्षयपात्र परिसर पहुंचा। निकुंजवन पहुंचकर राष्ट्रपति संत विजय कौशल महाराज के साथ एकांत कुटिया में आध्यात्मिक चर्चा की। इसके बाद वह अक्षयपात्र में बनी विशाल किचन का अवलोकन किया और ब्रज के नन्हे-मुन्ने बच्चों को भोजन कराया।

राष्ट्रपति के साथ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “सनातन परंपरा ने सेवा को ही धर्म माना है। स्वामी विवेकानंद ने भी धर्म को सेवा मानकर कार्य किया। कैंसर जैसी बीमारी के लिए यह अस्पताल बहुत उपयोगी साबित होगा।”

उन्होंने कहा, “राम के नाम पर पूरे देश में सेवा का मिशन चल रहा है और यहां दूसरे राम द्वारा उसे एक नई गति दी जा रही है। यह अद्भुत संयोग है।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि वास्तव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आयुष्मान भारत योजना लागू किए जाने के बाद वैसे तो हरेक व्यक्ति को स्वास्थ्य सुविधाएं दिलाने के पर्याप्त साधन हो गए हैं, लेकिन इसमें सरकारी संस्थाओं के साथ धर्मार्थ संस्थाओं का बड़ा योगदान हो सकता है।

योगी यहां रामकृष्ण मिशन द्वारा शुरू किए गए कैंसर यूनिट के शुभारंभ कार्यक्रम में पहुंचे थे। यहां उन्होंने राष्ट्रपति के साथ मंच साझा किया। मुख्यमंत्री के साथ ही राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहीं।

Comments are closed.