‘लास्टिंग लिगेसी ऑफ गांधी-मां संतोष कुमार’ पुस्तक का विमोचन

नई दिल्ली, 11 जनवरी (आईएएनएस)| महात्मा गांधी की 150वीं वर्षगांठ पर दिल्ली पुस्तक मेले में लास्टिंग लिगेसी ऑफ गांधी-मां संतोष कुमार पुस्तक का विमोचन किया गया। यह पुस्तक रमेश दीक्षित द्वारा लिखी गई है। इस अवसर पर सीएए और एनआरसी के बाद विभिन्न विश्वविद्यालयों में बनी हुई स्थिति के बारे में बात करते हुए मां संतोष कुमार ने कहा, “छात्रों को इन चीजों में नहीं जाना चाहिए क्योंकि वे तथ्यों से अवगत नहीं हैं। वे निहित स्वार्थ वाले लोगों द्वारा उपयोग किए जा रहे हैं। यह हमारे देश के लिए अच्छा नहीं है।”

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रूप में मौजूद केजे अल्फोंस राज्य सभा सांसद और संसद की स्थायी समिति विदेश मंत्रालय के सदस्य एवं सेवानिवृत्त आईएएस ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के लिए पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह अधिनियम देश हित में है। गांधी पर किताब की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में विरोध कर रहे छात्रों या लोगों को गांधीजी के आदर्शो का पालन करना चाहिए।

उन्होंने कहा, “शिकागो की मदर टेरेसा के नाम से जानी जाने वाली मां संतोष कुमार पर आधारित पुस्तक में पीएम मोदी और गांधी जी को जगह दी गई है। गांधीजी और पीएम मोदी में बहुत समानताएं हैं और सबसे बड़ी समानता स्वच्छता पर ध्यान केंद्रित करना है। मोदीजी अच्छा काम कर रहे हैं और हमें एक ऐसा नेता मिला है जो देश के लिए सही है क्योंकि वह भारतीय संस्कृति को वापस लाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है।”

संतोष कुमार मेट्रोपोलिटन एशियन फैमिली सर्विसेज, शिकागो की संस्थापक व कार्यकारी निदेशक हैं और उन्हें शिकागो की मदर टेरेसा के रूप में जाना जाता है। उन्होंने भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका और पूर्वी यूरोपीय देशों के 10,000 प्रवासियों की सेवा करने की योजना बनाकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है। अमेरिकी साथियों ने उन्हें ‘वंडर वुमेन’ के रूप में सम्मानित किया है और भारत में उन्हें प्रतिष्ठित ‘शिकागो की मदर टेरेसा’ के रूप में घोषित किया गया है।

 

Comments are closed.