Loading...

राम लीला मैदान की ओर कूच कर रहे किसान, पुलिस ने निरंकारी मैदान में लाकर छोड़ा

Loading...
नई दिल्ली, 27 नवंबर (आईएएनएस)। कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने टिकरी और सिंघु बॉर्डर पर अपना डेरा बनाया हुआ है। हालांकि पंजाब से दिल्ली आए किसानों को बुराड़ी के निरंकारी मैदान पर प्रदर्शन की अनुमति दी गई है। लेकिन फिलहाल किसान अभी बॉर्डर पर जमे हुए हैं। जो किसान दिल्ली में घुस गए थे और रामलीला मैदान पहुंचने की कोशिश कर रहे थे उन्हें पुलिस ने हिरासत में लेकर बुराड़ी के निरंकारी मैदान में लाकर छोड़ दिया है।

पंजाब से दिल्ली अपना विरोध जताने आई सुनीता रानी और उनके साथी आज दिल्ली के राम लीला मैदान की ओर कूच करने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन उनके मुताबिक पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेकर बुराड़ी के निरंकारी मैदान छोड़ दिया है। उनके साथ और भी महिलाएं मौजूद है।

सुनीता रानी ने आईएएनएस को बताया, 2 दिन पहले हम पंजाब से चले थे। हमारे और भी साथी सिंघु बॉर्डर पर मौजूद है। दो दिन के सफर के बाद हम राम लीला मैदान पहुचने वाले थे मुश्किल से 1 किलोमीटर रह गए थे। वहीं हम सबको इकठ्ठा होना था वहाँ हमें करीब 2 बजे पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

पुलिस ने हमें पूरे दिन घुमाया और अब हमें यहां बुराड़ी मैदान में छोड़ दिया है।

सुनीता के साथ आए अन्य लोग भी फिलहाल बुराड़ी के निरंकारी मैदान में बैठे हुए हैं। हालांकि इन लोगों का कहना है कि हम सभी को सिंघु बॉर्डर जाना है। लेकिन अब फिलहाल पुलिस इन्हें वापस बॉर्डर जाने देगी या नहीं ये अभी तक साफ नहीं हो सका है।

इन सभी की गाड़ियों पर ऑल इंडिया किसान सभा का झंडा लगा हुआ है। वहीं एक बस और 2 अन्य 4 पहिया गाडियां साथ मे मौजूद है। फिलहाल सभी ने बुराड़ी के निरंकारी मैदान में की गई लंगर की व्यवस्था से इन लोगों ने खाने का इंतजाम किया है।

दरअसल निरंकारी मैदान पर किसानों के लिए बेसिक आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने का फैसला किया है। इसके तहत सबसे पहले यहां किसानों के लिए पेयजल की व्यवस्था करवाई जा रही है।

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा खुद बुराड़ी पहुंचकर स्वयं व्यवस्था का जायजा लिया था। किसानों के लिए टेंट, शेल्टर, चलते-फिरते टॉइलट उपलब्ध कराने की तैयारी चल रही है।

— आईएएनएस

एमएसके/जेएनएस

Loading...

Comments are closed.