यूपी में कोरोना की चाल हुई मंद, कुल 9806 एक्टिव केस

लखनऊ, 12 जून (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 10,000 से भी कम हो गई है। मौजूदा समय में प्रदेश में करोना के कुल 9806 एक्टिव केस हैं। शनिवार को प्रदेश में 524 कोरोना संक्रमित पाए गए। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर बढ़कर 98.1 प्रतिशत हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कोविड की समीक्षा बैठक में बताया गया कि 24 घंटे में 2 लाख 74 हजार 811 कोविड टेस्ट हुए। इनमें कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर 0.2 प्रतिशत रही। अब तक कुल 5 करोड़, 30 लाख, 55 हजार, 495 कोरोना टेस्ट किए जा चुके हैं।

समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, ट्रेस, टेस्ट एंड ट्रीट की नीति के तहत कोविड-19 से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को प्रभावी ढंग से जारी रखा जाए। कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए संक्रमण की रोकथाम के संबंध में पूरी सतर्कता और सावधानी बरती जाए। योगी ने कहा कि बरसात में इंसेफलाइटिस समेत विभिन्न संक्रामक बीमारियों जैसे डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया आदि का प्रकोप कई जिलों में बढ़ता है। बरसात का मौसम शुरू हो रहा है। इसके ²ष्टिगत संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिए कार्य योजना बनाकर पूरी तैयारी कर ली जाए। बरसात में होने वाली संक्रामक बीमारियों पर नियंत्रण के लिए व्यापक पैमाने परस्वच्छता, सैनिटाइजेशन एवं फॉगिंग की कार्यवाही लगातार जारी रहे। साथ ही, स्वच्छ एवं शुद्ध पेयजल की व्यवस्था भी बनी रहे। उन्होंने कहा कि इस संबंध में जल्द ही उनके स्तर पर समीक्षा की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जून में एक करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने का लक्ष्य रखा गया है। जिस तेजी से वैक्सीन लग रही है। उससे उम्मीद है कि जून में एक करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज लग जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी महीनों में कोरोना वैक्सीनेशन की गति को दो से तीन गुना बढ़ा कर रोजाना 10 लाख डोज से अधिक किए जाने की जरूरत है। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्राम प्रधान बेहतर ढंग से काम कर सकें। इसके लिए उन्हें ट्रेनिंग दी जाए। कुछ ग्राम प्रधानों के पैन कार्ड न होने के कारण उनके बैंक खाते नहीं खुल पा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संबंध में जल्द जरूरी कार्यवाही कर ग्राम प्रधानों के बैंक खाते खुलवाए जाएं, जिससे ग्राम विकास का काम बिना किसी रूकावट के हो सके। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि होटल, रेस्टोरेंट्स आदि के खुलने तक जिलों में चलने वाले कम्युनिटी किचन व्यवस्था को जारी रखा जाए। आपदा की स्थिति में प्रभावित व्यक्तियों को अनुमन्य आर्थिक सहायता राशि तत्काल उपलब्ध कराई जाए। सहायता राशि का वितरण जनप्रतिनिधियों के माध्यम से कराया जाए।

–आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

You might also like

Comments are closed.