मॉस्को इंटरनेशनल फिल्म फेस्ट में मराठी फिल्म पुगल्या ने जीता सर्वश्रेष्ठ विदेशी फीचर पुरस्कार

मुंबई, 12 अप्रैल (आईएएनएस)। मराठी फिल्म पुगल्या ने मास्को इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल, 2021 में सर्वश्रेष्ठ विदेशी भाषा फीचर का पुरस्कार जीता है।

निर्देशक विनोद सैम पीटर ने आईएएनएस को बताया, मुझे बहुत खुशी मिलती है जब मैं देखता हूं कि कहानी को इतनी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। मॉस्को इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में जीतना मेरे और टीम के लिए गर्व की बात है।

फिल्म प्रोड्यूसर, जिन्होंने स्क्रीनप्ले भी लिखा था, उनका कहना है कि फिल्म एक बच्चे की मासूमियत के बारे में है।

उन्होंने कहा, पुगल्या एक ऐसी कहानी है, जो एक पग और दो लड़कों रुशब और दत्ता के इर्द-गिर्द घूमती है, जिनकी उम्र लगभग 10 साल है। एक पग कुत्ता दो लड़कों की जिंदगी में आता है, जिनमें से एक शहर से है और दूसरा गांव से है। उनके जीवन पर इसका प्रभाव पुगल्या में दिखाया गया है। फिल्म बच्चों की मासूमियत और सरलता को दिखाती है।

उन्होंने कहा कि वह कुत्तों के प्रति उभयभावी हैं और उन्हें यह एहसास भी हुआ है कि इस प्रकार के मुद्दे की एक अंतराष्र्ट्ीय अपील है।

फिल्म ने अब तक कैलिफोर्निया में लॉस वल्र्ड प्रीमियर फिल्म अवार्डस में सम्मान प्राप्त किया है। इस फिल्म ने लंदन, इटली, स्वीडन, ऑस्ट्रेलिया, फिलीपींस, तुर्की, ईरान, अर्जेंटीना, लेबनान, बेलारूस, रूस, कजाकिस्तान, स्पेन, फिलीपींस, इजरायल, अमेरिका और कनाडा में विभिन्न अंतराष्र्ट्ीय फिल्म प्रतियोगिताओं में भी भाग लिया है।

लॉकडाउन के कारण, फिल्म का अभी भी भारत में रिलीज होने का इंतजार है।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

You might also like

Comments are closed.