मुक्केबाजी : जूनियर बॉयज नेशनल चैंपियनशिप में चैंपियन बनकर उभरा एसएससीबी (लीड-1)

सोनीपत (हरियाणा), 31 जुलाई (आईएएनएस)। यहां के दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) में शनिवार को तीसरी जूनियर बॉयज नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में ओवरआल खिताब जीतने के लिए सर्विसेज स्पोर्ट्स कंट्रोल बोर्ड (एसएससीबी) के मुक्केबाजों को हरियाणा की कड़ी प्रतिद्वंद्विता का सामना करना पड़ा। खास बात यह रही कि अंतिम दिन के सभी मुकाबले टक्कर के रहे।

एसएससीबी ने 64 अंकों के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया। उसके खाते में पांच स्वर्ण पदक, चार रजत और दो कांस्य आए जबकि हरियाणा ने चार स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य पदक जीतकर 48 अंकों के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। चंडीगढ़ ने दो स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य के साथ 27 अंक लेकर तीसरा स्थान हासिल किया।

52 किग्रा लाइट बेंटमवेट फाइनल में, एसएससीबी के निखिल ने उत्तर प्रदेश के रोहित यादव को एकतरफा मुकाबले में आराम से हराया। इस मुकाबले में रोहित ने शुरूआत से ही मुकाबले को नियंत्रित किया और इसका कारण यह रहा कि यूपी के मुक्केबाज के पास इस साउथपा प्रतिद्वंद्वी का कोई जवाब नहीं था।

एसएससीबी के शेष चार स्वर्ण पदक विजेता आकाश (54 किग्रा), प्रीत (63 किग्रा), अंकुश (66 किग्रा) और नक्श बेनीवाल (75 किग्रा) रहे। इन चारों ने अपने-अपने भार वर्ग के फाइनल मुकाबलों में जीत हासिल की।

दिन का सबसे अच्छा मुकाबला 46 किग्रा भार वर्ग का फाइनल रहा, जिसमें चंडीगढ़ के कृष पाल और एसएससीबी के हर्ष के बीच टक्कर हुई। दोनों मुक्केबाजों ने जोरदार प्रहार किया और मुकाबले के शुरूआत से लेकर अंत तक लगातार हमले किए। कृष के हमले ज्यादा प्रभावशाली साबित हुए। कृष ने 3-2 के अंतर से जीत हासिल की। अपने प्रभावशाली प्रदर्शन के लिए, कृष पाल को टूनार्मेंट के सबसे होनहार मुक्केबाज के रूप में चुना गया।

स्वर्ण पदक जीतने वाले चंडीगढ़ के अन्य मुक्केबाज रोहित चमोली (48 किग्रा) रहे, जिन्होंने एसएससीबी की नीरू को एकतरफा अंदाज में 5-0 से हराया।

हरियाणा के अंशुल (57 किग्रा), यशवर्धन सिंह (60 किग्रा), गौरव सैनी (70 किग्रा) और भरत (80 किग्रा) ने अपने-अपने अंतिम मुकाबले जीते और स्वर्ण पदक हासिल किया।

जूनियर बॉयज नेशनल चैंपियनशिप के तीसरे संस्करण में देश भर के 298 मुक्केबाजों ने हिस्सा लिया।

–आईएएनएस

जेएनएस

You might also like

Comments are closed.