मर्केल ने कोविड वैक्सीन के लिए पेटेंट संरक्षण का किया बचाव

बर्लिन, 25 जून (आईएएनएस)। जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने बुंडेस्टाग या संसद के निचले सदन में एक सरकारी बयान में कोविड टीकों के लिए पेटेंट संरक्षण का बचाव किया है।

मर्केल ने गुरुवार को कहा, राजनीतिक रूप से लागू पेटेंट को जारी करना मेरी राय में गलत तरीका है।

उसने कहा कि वह आश्वस्त है कि हमें जितनी जल्दी हो सके लाइसेंस के आधार पर टीकों के उत्पादन को बढ़ाने की जरूरत है।

24-25 जून को ब्रसेल्स में यूरोपीय परिषद की बैठक में जर्मन सरकार के बयान में मर्केल ने कहा, दुनिया, भविष्य में विकसित किए जा रहे टीकों पर निर्भर रहेगी।

यह तभी सफल होगा, जब बौद्धिक संपदा की सुरक्षा को ओवरराइड नहीं किया जाएगा बल्कि संरक्षित किया जाएगा।

उनके शिखर सम्मेलन में यूरोपीय संघ के राष्ट्रध्यक्ष और सरकार अन्य बातों के अलावा, कोविड टीकाकरण अभियान की प्रगति और टीकों के वैश्विक वितरण पर चर्चा करेगी।

मर्केल ने जोर देकर कहा कि यूरोप में संयुक्त रूप से टीकों की खरीद का निर्णय सही था।

कुछ भी हो सकता है कि कुछ सदस्य राज्यों ने अल्पकालिक लाभ दिया हो, लेकिन आंतरिक बाजार में जीवन को गंभीर रूप से बाधित कर दिया होगा।

रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट (आरकेआई) के अनुसार, अब तक जर्मनी में 2. 78 करोड़ से अधिक लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया जा चुका है, जिससे देश की टीकाकरण दर 33.5 प्रतिशत हो गई है।

4.34 करोड से अधिक लोगों को कम से कम एक वैक्सीन की खुराक मिली।

मर्केल ने जोर देकर कहा, महामारी को केवल विश्व स्तर पर ही हराया जा सकता है और इसकी कुंजी टीकाकरण है।

इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि जी7 देशों (कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, यूके और यूएस) का लक्ष्य 2022 तक विकासशील देशों को 230 करोड़ वैक्सीन खुराक वितरित करना है।

–आईएएनएस

एचके/आरजेएस

You might also like

Comments are closed.