ममता ने कूचबिहार चुनाव हिंसा का राजनीतिकरण किया : भाजपा

नई दिल्ली, 11 अप्रैल (आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर राज्य में विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के दौरान कूचबिहार में हुई हिंसा का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया।

भाजपा ने कहा कि मृतकों के प्रति ममता की सहानुभूति, उन व्यक्तियों की आस्था पर निर्भर करती है, जो मारे गए हैं।

रविवार को शांतिपुर में एक रोड शो के बाद मीडिया से बात करते हुए, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी ने इस हिंसा का राजनीतिकरण किया है।

शाह ने कहा, आनंद बर्मन नामक एक मतदाता भी मारा गया था, लेकिन ममता दीदी ने केवल चार अन्य लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया है। तुष्टिकरण और वोट बैंक की राजनीति यहां तक कि मृत्यु में भी दिखाती है कि उन्होंने बंगाल में राजनीति का स्तर कितना घटा दिया है।

कूचबिहार में शनिवार सुबह चौथे चरण के मतदान के दौरान चुनाव संबंधी हिंसा की दो अलग-अलग घटनाओं में बर्मन सहित पांच लोग मारे गए। केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) द्वारा की गई गोलीबारी में चार लोग मारे गए।

हिंसा के दौरान कुछ उपद्रवियों ने सीएपीएफ के हथियारों को छीनने की कोशिश की थी, जिसने सुरक्षा बलों को फायरिंग के लिए मजबूर किया। फायरिंग में चार लोगों की जान चली गई। इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए शाह ने कहा कि बर्मन की हत्या पर शोक नहीं व्यक्त किया गया, क्योंकि वह ममता के वोट बैंक का हिस्सा नहीं थे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ममता के पास अभी भी समय है और उन्हें पांचवें व्यक्ति की जान गंवाने पर शोक व्यक्त करना चाहिए।

पश्चिम बंगाल भाजपा प्रभारी अमित मालवीय ने आरोप लगाया है कि ममता की सहानुभूति उस व्यक्ति की आस्था पर निर्भर करती है, जो मारा गया है।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

You might also like

Comments are closed.