Loading...

भाजपा को स्वामी विवेकानंद की जयंती मनाने का अधिकार नहीं : अभिषेक बनर्जी

Loading...
कोलकाता, 13 जनवरी (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और तृणमूल कांग्रेस में स्वामी विवेकानंद की जयंती पर उनकी विरासत को लेकर जुबानी जंग छिड़ गई।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और तृणमूल कांग्रेस के लोकसभा सांसद अभिषेक बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि भाजपा को स्वामी विवेकानंद की जयंती मनाने का कोई अधिकार नहीं है।

तृणमूल कांग्रेस ने कोलकाता के गोलपार्क से हाजारा तक एक रैली निकाली, जहां बनर्जी ने कहा, भाजपा को स्वामी जी को याद करते हुए कोई भी रैली निकालने का अधिकार नहीं है। उन्हें महान आइकन के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है। जब पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने स्वामी विवेकानंद के नाम का गलत उच्चारण किया था तो हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसका विरोध नहीं किया।

तृणमूल सांसद ने कहा कि उनकी पार्टी कभी भी इस स्तर तक नहीं जाएगी कि उन्हें स्वामी जी की जयंती पर राजनीति करनी पड़े।

उन्होंने कहा, हम उस स्तर तक नहीं जा सकते। स्वामी जी की विचारधारा हमें आने वाले वर्षों में आगे बढ़ा सकती है।

उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी केंद्र के दबाव में कभी नहीं झुकेंगी, क्योंकि बंगाल विभाजनकारी राजनीति में विश्वास नहीं करता है।

अभिषेक बनर्जी ने कहा, राजनीतिक दल, जो नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के साथ राष्ट्र को तोड़ने की कोशिश कर रहा है और जिसने अतीत में शिक्षाविद् विद्यासागर की प्रतिमा के साथ बर्बरता की है, बंगाल के लोग उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

Loading...

Comments are closed.