बेंगलुरु में जापानी छात्र को भेजा गया डिटेंशन सेंटर

बेंगलुरु, 5 मार्च (आईएएनएस)। एक जापानी छात्र को उसकी वीजा अवधि समाप्त होने के बाद भी देश में रहने के लिए डिटेंशन सेंटर में भेज दिया गया है। पुलिस ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी।

बेंगलुरु के पुलिस उपायुक्त (उत्तर) डी.के. मीणा ने आईएएनएस को बताया कि जापानी छात्र हिरोतोशी तनाका (31) को निर्वासन केंद्र भेजा गया है जहां से उन्हें जल्द ही उनके देश भेजा जाएगा। वह मार्च, 2020 में अपने 1 साल के वीजा की अवधि समाप्त होने और 28 जनवरी, 2021 को बाहर निकलने की अनुमति के बाद भी शहर में रह रहे थे।

विदेशियों के क्षेत्रीय पंजीकरण कार्यालय (एफआरआरओ) ने तनाका के निकासी परमिट का विस्तार करने से इनकार कर दिया, क्योंकि उन्होंने दावा किया कि उनके पास अपने देश जाने के लिए टिकट खरीदने के भी पैसे नहीं थे। पुलिस ने शहर में जापानी वाणिज्य दूतावास को उनके जल्द से जल्द निर्वासन की व्यवस्था के लिए कहा।

मीणा ने कहा कि तनाका ने दरअसल 27 फरवरी को उत्तरी उपनगर में हमारे सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) कार्यालय से एक कुर्सी चुरा ली। उसने सोचा कि उसे चोरी के मामले की सुनवाई और दोषी होने तक जेल में रखा जाएगा, क्योंकि वह अपने देश नहीं जाना चाहता था।

तनाका जनवरी, 2019 में अंग्रेजी सीखने के लिए छात्र वीजा पर इस शहर में आया था, लेकिन क्विकस्टेप इंग्लिश सेंटर के प्रिंसिपल के साथ कथित रूप से मारपीट करने के बाद उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। लंबित मुकदमे के कारण उसने क्लास में जाना बंद कर दिया। हालांकि तनाका जमानत पर जेल से बाहर आ गया।

–आईएएनएस

एसआरएस/एएनएम

You might also like

Comments are closed.