बिहार: जविपा अध्यक्ष ने नीतीश कुमार से मांगा इस्तीफा, कहा, स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल

पटना, 4 मई (आईएएनएस)। बिहार में लॉकडाउन और उच्च न्यायालय द्वारा बिहार सरकार को फटकार लगाने के बाद मंगलवार को जनतांत्रिक विकास पार्टी (जविपा) ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस्तीफा की मांग की है। जविपा के अध्यक्ष अनिल कुमार ने तंज कसते हुए कहा कि डबल इंजन की सरकार ने बिहार के लोगों की अंतिम यात्रा निकाल दी।

उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय ने जिस तरह से राज्य की मौजूदा हालात पर टिप्पणी की है, वैसे में नीतीश कुमार को इस्तीफा दे देना चाहिए।

अनिल कुमार ने बिहार की स्वास्थ्य सुविधाएं की स्थिति को बताते हुए संवाददाता सम्मेलन के दौरान ही आरा सदर अस्पताल और मसौढ़ी अस्पताल में फोन लगाया। आरा सदर अस्पताल में बताया गया कि वहां आईसीयू व वेंटिलेटर है, लेकिन वह प्रारंभ नहीं है। मसौढ़ी में कहा गया कि वहां बेड नहीं है और जब बेड हो तभी भी आपको अपना ऑक्सीजन लेकर आना होगा।

उन्होंने कहा कि बिहार में सरकार के द्वारा कमीशन खोरी की दुकान चल रही है।

उन्होंने मेदांता अस्पताल को अब तक कोविड अस्पताल घोषित नहीं किए जाने पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि आखिर मुख्यमंत्री का मेदांता के साथ किस तरह का समझौता है।

जविपा नेता ने टीकाकरण और कोरोना जांच को लेकर भी सरकार को घेरा और कहा कि प्रदेश में अब तक लगभग 61 लाख लोगों को ही टीका लगा है। उन्होंने कहा कि पहले 1 लाख से अधिक नमूनों की जांच हो रही थी लेकिन अब संख्या में कमी आ गई।

उन्होंने मुख्यमंत्री से अस्पतालों और पटना के श्मशान घाटों तक जाने की मांग करते हुए कहा कि तब आपको हालात का पता चलेगा।

–आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

You might also like

Comments are closed.