बसवराज सोमप्पा बोम्मई चुने गए कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री

बेंगलुरु, 27 जुलाई (आईएएनएस)। बसवराज सोमप्पा बोम्मई को मंगलवार को कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री के रूप में चुना गया, जो बी.एस. येदियुरप्पा की जगह लेंगे।

उत्तर कर्नाटक के एक मजबूत लिंगायत नेता बसवराज को एक निजी होटल में आयोजित विधायक दल की बैठक में नेता चुना गया। केंद्रीय पर्यवेक्षकों केंद्रीय मंत्रियों धर्मेंद्र प्रधान और जी. किशन रेड्डी की अध्यक्षता में हुई बैठक में उन्हें विधायक दल का नेता चुना गया।

येदियुरप्पा ने बोम्मई के नाम का प्रस्ताव रखा और भाजपा विधायकों ने इस पर सहमति जताई।

बोम्मई बुधवार दोपहर 3.20 बजे राजभवन में 30वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे।

28 जनवरी, 1960 को जन्मे बोम्मई ने येदियुरपा सरकार में गृह, कानून और संसदीय मामलों का विभाग संभाला। उन्होंने जल संसाधन और सहकारिता मंत्री के रूप में भी काम किया है। येदियुरप्पा के चले जाने और केजेपी को लॉन्च करने के बाद बोम्मई के पार्टी के साथ बने रहने के फैसले और भाजपा में वापसी के बाद येदियुरप्पा का विश्वास हासिल करने की उनकी क्षमता के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने उनके लिए काम किया।

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और जनता दल नेता एस.आर. बोम्मई के बेटे बसवराज, 2008 में जनता परिवार से भाजपा में शामिल हुए थे और येदियुरप्पा ने भी पार्टी की रक्षा करने की उनकी क्षमता की सराहना की थी।

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक और पेशे से कृषक और उद्योगपति, उन्होंने जनता परिवार के साथ अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। वह 1998 और 2004 में धारवाड़ स्थानीय प्राधिकरण के निर्वाचन क्षेत्र से कर्नाटक विधान परिषद के सदस्य चुने गए थे।

फरवरी 2008 में भाजपा में शामिल होने के बाद, जब येदियुरप्पा मुख्यमंत्री बने, तो वे हावेरी जिले के शिगगांव निर्वाचन क्षेत्र से विधानसभा के लिए चुने गए।

राज्य में सिंचाई मामलों के अपने ज्ञान और असंख्य सिंचाई योजनाओं में योगदान के लिए व्यापक रूप से प्रशंसित, उन्हें हावेरी के शिगगांव में भारत की पहली 100 प्रतिशत पाइप सिंचाई परियोजना को लागू करने का श्रेय भी दिया जाता है।

–आईएएनएस

एसजीके

You might also like

Comments are closed.