बंगाल में छिटपुट घटनाओं के बीच पांचवें चरण में 5 बजे तक 78.36 फीसदी मतदान

कोलकाता, 17 अप्रैल (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल में शनिवार को विधानसभा के पांचवें चरण के मतदान के दौरान कुछ छिट-पुट घटनाओं के बीच भारी मतदान दर्ज किया गया। अंतिम आंकड़े आने बाकी हैं, लेकिन चुनाव आयोग द्वारा दर्ज आंकड़ों से पता चला है कि राज्य में शाम 5 बजे तक 78.36 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है।

आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, जलपाईगुड़ी में सबसे अधिक 81.73 प्रतिशत मतदान हुआ, इसके बाद पूर्वी बर्दवान में 81.72 प्रतिशत मतदान हुआ। नादिया ने 81.57 प्रतिशत मतदान देखा गया, जबकि उत्तर 24 परगना और दार्जिलिंग में क्रमश: 74.83 और 74.32 प्रतिशत मतदान हुआ। कालिम्पोंग में सबसे कम 69.56 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है।

पांचवें चरण के मतदान में विभिन्न राजनीतिक दलों के कुल 319 उम्मीदवार चुनावी मैदान में थे, जिनमें जलपाईगुड़ी में 7, दार्जिलिंग में 5, कालिम्पोंग में 1, नादिया में 8, उत्तर 24 परगना में 16 और पूर्वी बर्दवान में 8 सहित 45 निर्वाचन क्षेत्र शामिल हैं।

हालांकि कुल मिलाकर राज्य भर में मतदान शांतिपूर्ण रहा, लेकिन कुछ छिटपुट घटनाएं भी हुईं, जिसमें नादिया जिले में हथियार रखने के लिए चकदाह एसी के एक निर्दलीय उम्मीदवार की गिरफ्तारी भी शामिल है।

सीईओ आरिज आफताब ने चुनाव के बाद मीडिया को बताया कि कौशिक भौमिक नामक उम्मीदवार को बालियाडांगा, दशपाड़ा इलाके में एक मतदान केंद्र के आसपास घूमते हुए पाया गया और उसकी पतलून में एक देसी पिस्तौल पाई गई। स्थानीय लोगों के चीखने और चिल्लाने के शोर के बीच जब केंद्रीय बलों ने उससे पूछताछ की तो उसकी पिस्तौल निकलकर नीचे गिर गई।

उत्तर 24 परगना जिले के कमरहटी में एक मतदान केंद्र पर बीमार पड़ने से भाजपा के एक एजेंट अभिजीत सामंत की मौत हो गई। उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

एक अन्य घटना में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्हें हरन गौर के रूप में पहचाने जाने वाले एक व्यक्ति पर नदिया जिले के शांतिपुर थाना क्षेत्र के पास हमला करने के आरोप में गिरफ्त में लिया गया। हरन को पैर में चोट आई है, जिसके बाद उसे एक अस्पताल ले जाया गया।

एक अन्य मामले में उत्तर 24 परगना जिले के बिधाननगर के शांति नगर में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थक आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों के समर्थकों ने पथराव करते हुए एक दूसरे पर हमला किया। इसके बाद केंद्रीय बलों के साथ भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा और स्थिति नियंत्रण में लाई गई।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) ने एक घटना का जिक्र किया, जिसमें पूर्वी बर्दवान जिले के गलसी में एक टीएमसी बूथ एजेंट को भाजपा समर्थकों द्वारा कथित रूप से पीटा गया, क्योंकि उसने उन्हें जहांपुर में एक मतदान केंद्र पर प्रॉक्सी वोटिंग से रोकने की कोशिश की थी।

सीईओ ने यह भी कहा कि आयोग को आज (शनिवार) विभिन्न प्लेटफार्मों के माध्यम से 2,241 शिकायतें मिली हैं और 100 निवारक गिरफ्तारी सहित 123 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

कई उम्मीदवारों द्वारा ऐसी शिकायतें की जाने पर कि उन्हें केंद्रीय बलों द्वारा मतदान केंद्रों में प्रवेश करने से रोका गया, इस पर सीईओ ने कहा कि सुरक्षा बलों को स्पष्ट निर्देश जारी किए गए हैं कि उम्मीदवारों को मतदान केंद्रों में प्रवेश करने से नहीं रोका जाना चाहिए। दरअसल, ऐसी खबरें सामने आईं कि कमारहाटी से टीएमसी उम्मीदवार मदन मित्रा और बारानगर से भाजपा प्रत्याशी परनो मित्रा को कथित तौर पर बूथों में प्रवेश करने से रोका गया।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

You might also like

Comments are closed.