बंगाल चुनाव के 5वें चरण में केंद्रीय बलों की 853 कंपनियों को तैनात किया

कोलकाता, 14 अप्रैल (आईएएनएस)। भारतीय चुनाव आयोग ने चौथे चरण के चुनावों से सबक लेते हुए पांचवें चरण के चुनाव लिए पश्चिम बंगाल में केंद्रीय बलों की 853 कंपनियों को तैनात करने का फैसला किया है।

पश्चिम बंगाल में 17 अप्रैल को छह जिलों में 45 निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव कराए जाने हैं। इस बार चौथे चरण की सुरक्षा व्यवस्था से भी अधिक चाक-चौबंद व्यवस्था की जाएगी। पिछले चरण में 44 विधानसभा क्षेत्रों के लिए 789 कंपनियों को तैनात किया गया था।

चुनाव आयोग के सूत्रों ने बताया कि 853 कंपनियों में से 283 को केवल 24 परगना जिले में तैनात किया जाएगा। इसके अलावा बसिरहाट पुलिस जिले में 107, बैरकपुर पुलिस आयुक्तालय में 61, बिधाननगर पुलिस आयुक्तालय में 46 और बारासात पुलिस जिले में 69 कंपनियों को तैनात किया जाएगा।

इसके अलावा, चुनाव आयोग ने दार्जिलिंग में 68, जलपाईगुड़ी में 112, कालिम्पोंग में 21, नादिया जिले में 151, पूर्वी बर्दवान जिले में 155 और सिलीगुड़ी जिले में 53 कंपनियों को तैनात करने का फैसला किया है।

पांचवें चरण में उत्तर 24 परगना जिले के 16 निर्वाचन क्षेत्रों, नदिया जिले के 8 निर्वाचन क्षेत्रों, पूर्वी बर्दवान जिले के 8 निर्वाचन क्षेत्रों, जलपाईगुड़ी जिले के 7 निर्वाचन क्षेत्रों, दार्जिलिंग के 5 निर्वाचन क्षेत्रों और कालिम्पोंग जिले के 1 निर्वाचन क्षेत्र सहित छह जिलों में चुनाव होंगे।

राज्य में सीईओ कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, छह जिलों में 45 निर्वाचन क्षेत्रों में फैले 15789 बूथों पर चुनाव होंगे। आयोग ने प्रति बूथ लगभग 6 कर्मियों की तैनाती के साथ 853 कंपनियों को तैनात करने का निर्णय लिया है।

यह तैनाती अभी तक के चुनावों में सबसे अधिक होगी। इसका यही उद्देश्य है कि कूचबिहार जैसी घटना फिर से न हो , जहां हिंसा के दौरान कई लोगों की जान चली गई थी।

–आईएएनएस

एकेके/एएनएम

You might also like

Comments are closed.