प्रतिबंधों के बावजूद ब्रिटेन के दिवंगत राजकुमार फिलिप को श्रद्धांजलि देने पहुंच रहे लोग

लंदन, 11 अप्रैल (आईएएनएस)। कोविड-19 प्रतिबंध के बावजूद एडिनबर्ग के ड्यूक प्रिंस फिलिप को श्रद्धांजलि देने के लिए लोग बंकिंघम पैलेस और विंडसर कैसल की यात्रा कर रहे हैं। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के पति प्रिंस फिलिप का शुक्रवार की सुबह विंडसर कैसल में 99 वर्ष की आयु में निधन हो गया था।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटिश सरकार की सभी इमारतों के लिए अंतिम संस्कार के दिन ड्यूक को श्रद्धांजलि देने के लिए अधिकारिक झंडे को शोक में आधा झुकाएं।

वहीं बीबीसी ने बताया कि ड्यूक की याद में शनिवार को पूरे ब्रिटेन में जमीन और समुद्र से गन सैल्यूट दिया गया। लंदन, एडिनबर्ग, कार्डिफ और बेलफस्ट समेत रॉयल नेवी के युद्धपोतों ने शनिवार को दोपहर तक हर मिनट पर एक राउंड 41 राउंड फायरिंग शुरू की थी।

शाही परिवार की वेबसाइट ने लोगों को शाही निवासों पर फूल और श्रद्धांजलि नहीं देने के लिए कहा है। वेबसाइट पर लोगों से फूल चढ़ाने की बजाय दान करने के लिए कहा गया है।

स्काई न्यूज ने बताया कि ड्यूक के अंतिम संस्कार के बारे में अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन यह समझा जाता है कि ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग का अंतिम संस्कार राजकीय समारोह की बजाय शाही समारोह में किया जाएगा। इस बारे में पूरी जानकारी सप्ताहांत में जारी होगी।

बता दें कि प्रिंस फिलिप का जन्म 10 जून, 1921 को कोफरू के ग्रीक द्वीप पर हुआ था। उनके राजुकमारी एलिजाबेथ के महारानी बनने से 5 साल पहले 1947 में राजकुमारी एलिजाबेथ से शादी की थी। वे ब्रिटिश इतिहास में सबसे लंबे समय तक राज करने वाली शाही सदस्य हैं। दंपति के 4 बच्चे, 8 पोते और 10 परपोते हैं।

–आईएएनएस

एसडीजे

You might also like

Comments are closed.