Loading...

पीटीआई गिलगित-बाल्टिस्तान में सरकार बनाने को तैयार

Loading...
गिलगित-बाल्टिस्तान, 25 नवंबर (आईएएनएस)। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) विधानसभा में बहुमत हासिल करने के बाद गिलगित-बाल्टिस्तान में सरकार बनाने के लिए तैयार है।

जियो टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, पार्टी ने आम चुनावों में 10 सीटें जीतीं, लेकिन छह स्वतंत्र विजेताओं का समर्थन हासिल करने और छह आरक्षित सीटों के आवंटन के बाद, पीटीआई ने विधानसभा की 33 में से 22 सीटें हासिल कीं।

गिलगित-बाल्टिस्तान विधानसभा में 33 सीटें हैं, जिनमें से 24 पर सीधे चुनाव होते हैं। बाकी नौ आरक्षित सीटें हैं- छह महिलाओं के लिए और तीन टेक्नोक्रेट और पेशेवरों के लिए।

मुख्य चुनाव आयुक्त गिलगित-बाल्टिस्तान राजा शाहबाज खान की एक अधिसूचना के अनुसार, पीटीआई को 10 सीटों पर विजेता घोषित किया गया, स्वतंत्र उम्मीदवारों ने सात सीटें जीतीं, पीपीपी ने तीन, पीएमएल-एन ने दो सीटें जीतीं, जबकि जेयूआई और एमडब्ल्यूएम ने एक-एक सीट जीती।

आरक्षित सीटों के लिए परिणाम भी मंगलवार को घोषित किए गए। टेक्नोक्रेट के लिए कुल तीन आरक्षित सीटों और महिलाओं के लिए छह आरक्षित सीटों के लिए अधिसूचना जारी की गई थी।

टेक्नोक्रेट की सीटों में से पीटीआई ने दो जबकि पीपीपी ने तीसरी जीत दर्ज की।

पीटीआई के सफल उम्मीदवारों में अकबर अली और फजल रहिम शामिल हैं, जबकि पीपीपी से गुलाम शहजाद जीते हैं।

महिलाओं के लिए आरक्षित सीटों में पीटीआई ने चार, जबकि पीपीपी और पीएमएल-एन ने एक-एक सीटों पर जीत दर्ज की।

पीटीआई की महिला उम्मीदवार जो विजयी रहीं, उनमें कनीज फातिमा, सूर्या मुहम्मद जमान, दिलशाद बानो और कुलसूम इलियास थीं।

पीपीपी के सादिया दानिश और पीएमएल-एन के सनम बीबी अन्य दो विजेता थे।

स्पीकर गिलगित-बाल्टिस्तान विधानसभा फिदा नशाद ने बुधवार को विधानसभा का सत्र बुलाया है।

जीबी विधानसभा के जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार, 24 निर्वाचन क्षेत्रों के सफल उम्मीदवार सत्र के दौरान शपथ लेंगे।

कश्मीर पर संघीय सलाहकार और गिलगित-बाल्टिस्तान अली अमीन गांडापुर ने विधानसभा में पीटीआई को दो-तिहाई बहुमत से जीतने में मदद करने के लिए लोगों को धन्यवाद दिया।

गिलगित में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने घोषणा की कि गिलगित-बाल्टिस्तान में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव हुए थे।

गंडापुर ने कहा, पर्यवेक्षकों ने अपनी रिपोर्ट में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनावों की पुष्टि की है। गिलगित-बाल्टिस्तान के लोग इमरान खान के नेतृत्व पर भरोसा करते हैं।

गांडापुर ने कहा कि खराब मौसम के बावजूद, चुनावों में मतदान 60 प्रतिशत था।

इसी बीच पीपीपी ने गिलगित-बाल्टिस्तान के चार जिलों- स्कार्दू, घनचे, खरमंग और शिगर में विरोध प्रदर्शन किया और जीबीए-2 निर्वाचन क्षेत्र में परिणाम को खारिज कर दिया, जहां पीटीआई उम्मीदवार फतेउल्लाह खान को पीपीपी उम्मीदवार जमील अहमद के विरुद्ध विजेता घोषित किया गया।

–आईएएनएस

एमएनएस/एसजीके

Loading...

Comments are closed.