पिम्परी चिंचवड़ में ‘वसूली’ केंद्र बने पुलिस थाने व चौकियां!

शिवसेना सांसद श्रीरंग बारने का सनसनीखेज आरोप

पिम्परी। पुणे समाचार ऑनलाइन

अहमदनगर जिले के केडग़ांव में चुनावी विवाद के चलते शिवसेना के दो स्थानीय नेताओं की निर्मम हत्या और उसमें राष्ट्रवादी कांग्रेस व भाजपा विधायकों व नेताओं का हाथ रहने की जानकारी सामने आई है। दो विधायकों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया है। इस पृष्ठभूमि पर पूछे गए सवाल के जवाब में शिवसेना के सांसद श्रीरंग बारने ने राजनीति के अपराधीकरण पर गहरी चिंता जताते हुए कहा कि, पिम्परी चिंचवड़ में कोई अलग हालात नहीं है। यहाँ राजनेताओं के ‘आशिर्वाद’ से अपराधी खुलेआम घूम रहे हैं और शहरभर अवैध धंधों का जाल बिछा है। शहर के पुलिस थाने और चौकियां केवल ‘वसूली’ का केंद्र भर बने हैं।

सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए सांसद बारने ने उपरोक्त सनसनीखेज आरोप लगाकर पुलिस महकमे को आरोपियों के कटघरे में खड़ा कर दिया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि, पिम्परी चिंचवड़ शहर में पुलिस राजनेताओं के दबाव तले काम कर रही है। राजनेताओं के ‘आशिर्वाद’ से शहर में अपराधी बेलगाम घूम रहे हैं और चारों तरफ अवैध धंधों का जाल से बिछ गया है। राजनीति का अपराधीकरण का ज्वलंत उदाहरण अहमदनगर के केडग़ांव की भीषण वारदात है, पिम्परी चिंचवड़ में भी कोई अलग हालात नहीं है। यहाँ भी राजनीति का अपराधीकरण तेजी से हो रहा है। शहर में अलग पुलिस आयुक्तालय की मांग शिवसेना बीते कई सालों से कर रही है। भाजपा सरकार केवल आश्वासन पर आश्वासन दे रही है। जिस तरह से शहर में अपराध बढ़ रहे हैं, इस पृष्ठभूमि पर अलग पुलिस आयुक्तालय शुरू करने हेतु ठोस व जल्द कदम उठाने चाहिए। शहर के हालातों और अलग आयुक्तालय की मांग को लेकर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, जो खुद गृह विभाग के मुखिया हैं, से मुलाकात कर चर्चा करेंगे, यह भी सांसद बारने ने बताया।

You might also like

Comments are closed.