पाक ने यूक्रेन से 200 जेस्लोन रक्षात्मक उपकरण प्रदान करने का अनुरोध किया

नई दिल्ली, 1 मार्च (आईएएनएस)। पाकिस्तान ने जेस्लोन एक्टिव प्रोटेक्शन सिस्टम की 200 इकाइयों खरीदने और उन्हें अपने मौजूदा बेड़े के टैंकों के साथ एकीकृत करने के लिए यूक्रेन से संपर्क किया है। रक्षा इंडस्ट्री के शीर्ष सूत्रों ने यह जानकारी दी।

पाकिस्तान सेना ने यूक्रेन के स्वामित्व वाली स्टेट फॉरेन ट्रेड एंटरप्राइज (एसएफटीई) स्पेट्स टेक्नो एक्सपोर्ट से 200 यूनिट नए रक्षात्मक उपकरण की आपूर्ति करने को कहा है।

जेस्लोन एक्टिव प्रोटेक्शन सिस्टम-हैंड-हेल्ड एंटी-टैंक ग्रेनेड लॉन्चर, एंटी-आर्मर प्रोजेक्टाइल, एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल और आर्मर-पियर्सिग और शेप-चार्ज आर्टिलरी सहित सभी प्रकार के एंटी-टैंक हथियारों के खिलाफ अकेले फिक्स्ड या मूविंग टारगेट की रक्षा करता है। आर्टिलरी राउंड 70 से 1,200 मीटर/सेकेंड पर अपने लक्ष्य तक पहुंचते हैं।

सूत्रों ने कहा, यह छोटे आवश्यक जरूरी रेंज पर आने वाले खतरों का भी पता लगाता है। यह लगभग अदृश्य रहता है, जो युद्ध के मैदान में उच्च दक्षता के साथ काम करता है।

पाकिस्तान ने भी एसएफटीई से अनुरोध किया है कि वह युद्ध के करीब की स्थिति में तकनीकी प्रस्तुति दे और यूक्रेन में एक डेमो साइट पर परीक्षण के लिए उपलब्ध जेस्लोन एपीएस की चार इकाइयां उपलब्ध कराए।

सूत्रों ने कहा, इसके बाद सफल ट्रेल्स / डेमो के बाद, पाकिस्तान सेना अगस्त 2021 तक सिस्टम के सीरियल उत्पादन के लिए एक आदेश देगी।

जेस्लोन एपीएस एक रडार-आधारित प्रणाली है, जो 150 से 180 डिग्री चौड़ा कवरेज प्रदान करती है और आने वाले प्रोजेक्टाइल को हराने की क्षमता रखती है।

इससे पहले, तुर्की ने एम60 टैंकों के सक्रिय सुरक्षा प्रणाली के लिए यूक्रेन की स्वामित्व वाली कंपनी से संपर्क किया था।

इसे तुर्की द्वारा सफलतापूर्वक उपयोग किया जा रहा है, जिसके बाद पाकिस्तान सेना ने इस रक्षात्मक प्रणाली की खरीद का फैसला किया है।

–आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

You might also like

Comments are closed.