नीतीश ने किया एचआईटी कोविड एप लांच, होम आइसोलेटेड मरीजों की पहचान कर होगा इलाज

पटना, 17 मई (आईएएनएस)। बिहार में कोरोना के संक्रमितों की संख्या में भले ही कमी आई हो लेकिन सरकार अभी कोई भी कोताही बरतने के मूड में नहीं है। कोरोना से निपटने के लिए सोमवार को बिहार सरकार ने मोबाइल एप लांच किया, जिससे होम आइसोलेटेड लोगों को चिह्न्ति कर उनकी उचित देखरेख की जा सकेगी।

मोबाइल एप लांच करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आज होम आइसोलेशन ट्रैकिंग (एचआईटी) कोविड एप लांच किया गया है।

उन्होंने कहा कि कोरोना से संक्रमित बड़ी संख्या में मरीज घर पर आइसोलेशन में रह रहे हैं। इन मरीजों के ऑक्सीजन स्तर के देखरेख की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि एचआईटी एप के लांच होने से आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की देखभाल में सहूलियत होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के द्वारा मरीजों के घर पर जाकर प्रतिदिन उनके शरीर का तापमान और ऑक्सीजन स्तर की जांच की जाएगी, जिसके आधार पर उनका उचित इलाज हो सकेगा।

उन्होंने यह भी कहा कि मरीजों की बिगड़ती स्थिति के बाद उन्हें कोविड डेडिकेटेड अस्पताल भी सही समय पर भेजा जा सकेगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाके में स्वास्थ्य परामर्शियों को प्रशिक्षित किया गया है, इनकी भी इस काम में मदद ली जाएगी।

इस मौके पर प्रावैधिकी विभाग के सचिव संतोष कुमार मल्ल ने बताया कि एचआईटी मोबाइल एप स्वास्थ्य विभाग के मार्गदर्शन में कोविड महामारी से बचाव के लिए विकसित किया गया है। एचआईटी के माध्यम से घर पर आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की देखरेख की जाएगी।

–आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

You might also like

Comments are closed.