दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म मामले में पैरोल जंप करने वाला शमशाद गिरफ्तार

नई दिल्ली, 23 फरवरी (आईएएनएस)। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 2010 के कुख्यात धौला कुआं दुष्कर्म मामले में उम्रकैद की सजा प्राप्त करने वाले एक दोषी को गिरफ्तार किया है। वह पैरोल जंप कर फरार हो गया था। उसके पास से 2 जिंदा कारतूस के साथ .32 कैलिबर की एक सेमी-ऑटोमेटिक पिस्तौल बरामद की गई।

पुलिस ने कहा कि शमशाद दिल्ली में एटीएम तोड़ कैश लेकर फरार होने के 12 मामलों में वांछित था। शमशाद दिल्ली और हरियाणा के 16 आपराधिक मामलों में भी शामिल था।

पूछताछ के दौरान, शमशाद ने खुलासा किया कि उसे इस मामले में कोरोना के दौरान जेलों में भीड़ कम करने की कवायद के तहत 20 अप्रैल, 2020 को जेल से पैरोल पर रिहा किया गया था।

महामारी के कारण बाद में 20 फरवरी 2021 तकपैरोल को बढ़ा दिया गया था और उसे इस दौरान आत्मसमर्पण करना था। लेकिन आत्मसमर्पण करने के बजाय, वह फरार हो गया और भूमिगत हो गया।

डीसीपी स्पेशल सेल के पीएस कुश्वाहा ने कहा, शमशाद मेवात के अंतरराज्यीय गिरोह के लुटेरों का सक्रिय सदस्य और लियाकत का करीबी सहयोगी है, जो पहले से ही गिरफ्तार है। इस गिरोह के अन्य सदस्यों के साथ शमशाद दिल्ली में एटीएम तोड़ने और नकदी ले जाने के 12 मामलों में वांछित है।

इस गिरोह के सदस्यों ने इन 12 एटीएम से 1.35 लाख रुपये की नकदी लूट ली। वे एटीएम बूथों में घुसने के बाद सीसीटीवी कैमरों पर काले रंग का स्प्रे करते थे और गैस कटर की मदद से एटीएम खोलते थे और कैश केबिन को हटा देते थे। कैश निकालने के बाद वे एटीएम के कुछ हिस्सों को फेंक देते थे। उपरोक्त मामलों में वांछित शमशाद के शेष पांच साथियों की भी पहचान कर ली गई है।

शमशाद ने चार सहयोगियों के साथ 23 और 24 नवंबर, 2010 की मध्यरात्रि में अपने वाहन में दिल्ली में एक लड़की के साथ दुष्कर्म किया था। सभी पांचों को गिरफ्तार कर लिया गया था और बाद में इस अपराध के लिए अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

–आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

You might also like

Comments are closed.