दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष पर चर्चा के लिए सोनिया से मिले स्थानीय नेता

नई दिल्ली, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद पर सहमति बनाने के लिए शनिवार को प्रदेश पार्टी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन के बाद से ही यह पद खाली पड़ा हुआ है। पार्टी के एक नेता के अनुसार, प्रदेश के वरिष्ठ नेता नरेंद्र नाथ, रमाकांत गोस्वामी, मंगत राम सिंघल और किरण वालिया ने सोनिया गांधी के साथ उनके आवास पर एक घंटे से अधिक समय तक बैठक की। नेता ने बताया कि इस बैठक में उन्होंने राज्य के नए पार्टी प्रमुख और राज्य प्रभारी का मुद्दा उठाया।

कांग्रेस नेता के अनुसार, सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं के विचारों को सुना, लेकिन वह कई अन्य वरिष्ठ पार्टी नेताओं के साथ विचार-विमर्श के बाद ही कोई निर्णय लेंगी।

सोनिया गांधी ने इस मुद्दे पर चर्चा के लिए गुरुवार को दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पी. सी. चाको, शहर के पूर्व इकाई प्रमुख अजय माकन, अरविंदर सिंह लवली और सुभाष चोपड़ा से भी विचार-विमर्श किया था।

राज्य की कांग्रेस इकाई के प्रमुख का पद 20 जुलाई को, दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित की मृत्यु के बाद से खाली पड़ा हुआ है। चाको ने पिछले सप्ताह ही पार्टी से उन्हें पदमुक्त होने के लिए कहा था।

शुक्रवार को आम आदमी पार्टी (आप) की विधायक अलका लांबा छह साल बाद फिर से कांग्रेस में शामिल हो गईं।

राष्ट्रीय राजधानी में 1998 से 2013 तक लगातार तीन बार सत्ता में रही कांग्रेस की नजरें आगामी विधानसभा चुनाव पर टिकी हुई हैं।

दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अगले साल होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए अभियान शुरू कर दिया है।

कांग्रेस, आम आदमी पार्टी से 2013 का चुनाव हार गई थी, जबकि 2015 के विधानसभा चुनाव में उसका पूरी तरह सफाया हो गया था। इस चुनाव में आप ने 70 में से 67 और भाजपा ने तीन सीटें जीती थीं।

 

You might also like

Comments are closed.