तमिलनाडु और चीन के बीच अधिक सहयोग की प्रतीक्षा : तमिलनाडु के संस्कृति मंत्री

बीजिंग, 12 अक्टूबर (आईएएनएस)| चीन और भारत के नेताओं के बीच दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक शुक्रवार और शनिवार को तमिलनाडु की राजधानी चेन्नेई में आयोजित हुई।

तमिलनाडु के संस्कृति मंत्री के. पांडियाराजन ने आशा व्यक्त की कि तमिलनाडु और चीन के बीच विभिन्न क्षेत्रों में अधिक सहयोग होगा। पांडियाराजन ने सीआरआई संवाददाता के साथ एक बातचीत में बताया कि प्राचीन तमिल लोगों ने मामल्लापुरम से अंतरराष्ट्रीय समुद्रीय व्यापार शुरू किया। यहां की सुंदर पत्थर नक्काशी का इतिहास एक हजार साल से अधिक पुराना है। यहां कलात्मक और सांस्कृतिक माहौल भरा पड़ा है। यह शिखर बैठक करने का आदर्श स्थल है।

पांडियाराजन ने बताया कि भारत में तमिलनाडु का विशेष लाभ है। अगर चीनी उद्यम यहां निवेश करते हैं, तो उन को जरूर बहुत लाभ मिलेगा। तमिलनाडु में प्रचुर संसाधन और विभिन्न स्तरों की तकनीकी प्रतिभाएं उपलब्ध हैं। वास्तव में तमिलनाडु के कई कारखाने चीनी पक्ष के साथ सहयोग कर रहे हैं। आशा है कि भविष्य में चीन के साथ अधिक गहन सहयोग और आदान प्रदान होगा।

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

 

Comments are closed.