जबलपुर में 25 करोड़ की सरकारी जमीन मुक्त कराई गई

जबलपुर, 22 जनवरी (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में माफियाओं और अतिक्रमणकारियों के खिलाफ अभियान का क्रम जारी है। इसी क्रम में जबलपुर में 15 एकड़ सरकारी जमीन कब्जाधारियों के कब्जे से मुक्त कराई गई। इस जमीन की कीमत 25 करोड़ से अधिक आंकी गई है।

बताया गया है कि जिलाधिकारी कर्मवीर शर्मा की अगुवाई में माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई जारी है। एक साथ छह स्थानों पर बड़ी कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई में 25 करोड़ 46 लाख रुपये अनुमानित बाजार मूल्य की 15 एकड़ से अधिक शासकीय भूमि को अवैध कब्जे से मुक्त कराया गया।

जबलपुर की पनागर तहसील के ग्राम पिपरिया बनियाखेड़ा में रसूखदार वीरेन्द्र पटेल के कब्जे से करीब 18 करोड़ 66 लाख रुपये बाजार मूल्य की 12 एकड़ शासकीय भूमि को मुक्त कराया गया। स्कूल एवं मुख्य सड़क से लगी बेशकीमती जमीन पर पूर्व सरपंच वीरेन्द्र पटेल द्वारा 15 वर्षों से कब्जा कर खेती की जा रही थी।

जिला प्रशासन की अगुवाई में पुलिस और नगर निगम के सहयोग से की गई कार्यवाही के दौरान हिस्ट्रीशीटर और निगरानीशुदा बदमाश मोहम्मद शमीम उर्फ शमीम कबाड़ी द्वारा खजरी में पत्नी संजीदा बी के नाम पर बनाये जा रहे आलीशान घर के अवैध हिस्से को जमींदोज करने के साथ-साथ उसके द्वारा नजदीकी ग्राम चांटी में बनाये गये गोदाम को भी जेसीबी मशीनों की सहायता से ध्वस्त कर दिया गया।

इसी तरह एक अन्य कार्रवाई में ग्राम पिपरिया, बनियाखेड़ी निवासी मोहनलाल पटेल द्वारा शासन की करीब दो करोड़ पांच लाख रुपये बाजार मूल्य की तीन एकड़ जमीन पर कब्जा कर अवैध रूप से गोदाम व दुकानों के निर्माण को जमींदोज किया गया।

–आईएएनएस

एसएनपी-एसकेपी

You might also like

Comments are closed.