चाय नहीं देने की बात से खफा होकर दिपाली कोल्हटकर की नौकर द्वारा ही हत्या

पुणे :  पुणे समाचार
मराठी के वरिष्ठ नाटककार और निर्देशक दिलीप कोल्हटकर की पत्नी दिपाली कोल्हटकर की चाय नहीं देने की वजह से केअर टेकर द्वारा हत्या करने की वजह सामने आयी है. दिपाली कोल्हटकर की हत्या के मामले में अलंकार पुलिस स्टेशन ने किसन अंकुश मुंडे (उम्र 19, निवासी उस्मानाबाद) को गिरफ्तार किया था. पुलिस पूछताछ में आरोपी ने अपना अपराध कबूल करते हुए बताया कि चाय नहीं देने को लेकर दोनों के बीच वाद विवाद हुआ था, जिसके चलते गुस्से में आकर दिपाली कोल्हटकर की हत्या करने की बात आरोपी ने कबूल की है. रविवार को कोर्ट ने आरोपी को 16 फरवरी तक पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश दिया है.

आरोपी किसन मुंडे काम पर आने के बाद हमेशा दिपाली से खाने के लिए कुछ न कुछ मांगा करता था. बुधवार (7 फरवरी की शाम को किसन ने दिपाली से चाय मांगा था. हमेशा किसन के खाने पीने की मांग को लेकर दिपाली कोल्हटकर काफी परेशान थी, जिसकी वजह से दोनों के बीच वाद विवाद हुआ करते थे. घटनावाले दिन भी किसन को चाय देने से इंकार करने पर, किसन ने गुस्से में आकर दिपाली कोल्हटकर की हत्या कर दी थी. किसन मुंडे सुबह 8 से रात 8 बजे के करीब दिपाली कोल्हटकर के घर काम किया करता था, हत्यावाले दिन वो आधा घंटा पहले जल्दी घर निकल गया था.

7 फरवरी के दिन दिपाली कोल्हटकर की जली हुई लाश संदिग्ध अवस्था में पायी गई थी. दिपाली कोल्हटकर के घर से धुआं निकलने की बात सोसायटी में रहनेवाले लोगों ध्यान में आया था, उसके बाद इस बात की जानकारी पुलिस को दी थी, मौके पर पहुंचकर पुलिस ने दिपाली कोल्हटकर की लाश को पोस्टमार्टम के लिए ससून हॉस्पिटल भेज दिया था, पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक दिपाली कोल्हटकर की सिर पर वार करके, गला दबाकर हत्या करने के बाद उनकी लाश को जलाने की कोशिश की गई थी. इस घटना से इलाके में काफी हडकंप मच गया था.