गोवा में पहाड़ियां, रेस्तरां मादक पदार्थ सेवन के नए केंद्र : विधायक

 पणजी, 16 जुलाई (आईएएनएस)| गोवा विधानसभा में चल रहे मानसून सत्र के दौरान मंगलवार को विपक्ष और सत्तारूढ़ पार्टी विधायकों ने कहा कि गोवा में पहाड़ियों के ढलान और रेस्तरां मादक पदार्थ सेवन के नए केंद्र बनते जा रहे हैं।

 भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक फ्रांसिस सिलवीरा ने विधानसभा में कहा कि उनके निर्वाचन क्षेत्र सेंट आंद्रे के अंतर्गत आने वाली पहाड़ियां अब मादक पदार्थ का सेवन करने के लिए नया केंद्र बन चुकीं हैं।

उन्होंने दावा किया कि ड्रग्स का इस्तेमाल करने वालों की पुलिस से साठगांठ है, जिसमें अधिकतर स्कूल और कॉलेज जाने वाले विद्यार्थी शामिल हैं।

सिलवीरा ने कहा, “वहां मादक पदार्थ बेचे जाने की हर किसी को जानकारी है। पुलिस भी यह बात जानती है। स्कूलों और कॉलेजों में ड्रग्स बेची जा रही है। पुलिस शिकायतों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।”

उन्होंने कहा, “स्कूल और कॉलेज जाने वाले विद्यार्थी अब पहड़ों में मादक पदार्थ का सेवन करने के लिए जा रहे हैं। अगर पुलिस को इस बात की जानकारी मिलती है तो वह ही छात्रों को इस बात की सूचना दे देती है, जो पुलिस के क्षेत्र में आने से पहले वहां से भाग निकलते हैं।”

मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने उनके जवाब में कहा कि वह पुलिस को आदेश देंगे कि सूर्यास्त के बाद जंगल और पहाड़ी क्षेत्रों में दिखाई देने वाले किसी भी व्यक्ति को पुलिस गिरफ्तार करे।

कांग्रेस विधायक अलेक्सीओ रेजिनाल्डो ने इसी चर्चा के दौरान दावा किया कि उत्तरी गोवा के अंजुना गांव में स्थित प्रसिद्ध रेस्तारां में 70 हजार रुपये देने पर कॉकटेल के साथ मादक पदार्थ परोसे जाते हैं।

रेजिनाल्डो ने कहा, “यह क्या चल रहा है? रेस्तारां अब खुले आम ड्रग्स बेच रहे हैं। क्यों पुलिस बल कुछ नहीं कर रहा है।”

मुख्यमंत्री ने इसके जवाब में कहा, “हम गोवा को ड्रग्स मुक्त बनाना चाहते हैं। हम अच्छे पर्यटकों को चाहने के साथ-साथ युवाओं के लिए बेहतर भविष्य चाहते हैं। सरकार इस मुद्दे पर सख्त है।”

गोवा समुद्र तटीय पर्यटन स्थल के रूप में प्रसिद्ध है, लेकिन इसे मादक पदार्थ के केंद्र के रूप में भी जाना जाता है। विशेष रूप से राज्य के तटीय क्षेत्र में यहां आसानी ने ड्रग्स मिल जाती है।

Comments are closed.