गांव की नदी किनारे गश्त लगा रहे हैं भारतीय फुटबालर जेजे

नई दिल्ली, 15 मई (आईएएनएस)। भारतीय फुटबाल टीम के स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुआ ने मिजोरम स्थित अपने गांव में युवाओं के साथ मिलकर एक टीम तैयार किया है, जो नदी किनारे गश्त लगाकर नदी के पारिस्थितिकी तंत्र को बचाने में मदद कर रहे हैं।

आईएसएल क्लब ईस्ट बंगाल के फुटबालर ने गांव मॉडल वेंग हनाहथियाल में कई युवाओं के साथ मिलकर एक समूह तैयार किया है, जो अपने घरों के पास बहने वाली नदी के पारिस्थितिकी तंत्र को बचाने में मदद कर रहे हैं।

लालपेखलुआ ने कहा, पिछले कई वर्षों से बेहद अधिक संख्या में मछली पकड़ने से ताइचुंग नदी में मछलियों की संख्या काफी कम हो गई है। यह बड़ी समस्या बन रही है, स्थानीय मछुआरों के लिए भी, जो आजीविका के लिए नदी पर निर्भर हैं।

स्थानीय लोगों ने तुइचांग के किनारे 500 मीटर के क्षेत्र की पहचान की है जिसे मछलियों के अंडे देने का स्थान माना जाता है। इलाके में 24 घंटे गश्त की जा रही है, जिससे कि अधिक संख्या में मछली पकड़ने से रोका जा सके।

भारतीय स्ट्राकर ने कहा, पिछले साल से हम सभी इस इलाके में गश्त लगाते हैं जिससे कि सुनिश्चित हो सके कि इस इलाके में कोई मछली नहीं पकड़ने नहीं आए। यह हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण है कि मछलियों को कम से कम उनके प्रजनन के इलाके में अकेला छोड़ दिया जाए।

उन्होंने कहा, नदी में अब काफी सारी मछलियां हैं। स्थानीय मछुआरों का भी कहना है कि उन्होंने कई वर्षों से नदी में इतनी मछलियां नहीं देखी।

इस काम में लालपेखलुआ और उनकी टीम को स्थानीय प्रशासन की भी मदद मिल रही है।

– -आईएएनएस

ईजेडए/जेएनएस

You might also like

Comments are closed.