कोरोना को लेकर दक्षिणी अफ्रीकी प्रांत में अपनाया गया ट्रिगर सिस्टम

जोहान्सबर्ग, 22 जून (आईएएनएस)। दक्षिण अफ्रीका के पश्चिमी केप प्रांत में पिछले 14 से 21 दिनों में स्वास्थ्य सेवाओं की मांग में वृद्धि होने के चलते अब इसे पहले से चेतावनी दी जा चुकी है। एक हाई प्रोफाइल अधिकारी ने इसकी सूचना दी।

इस प्रांत के प्रीमियर एलन विंडे ने सोमवार को एक बयान में कहा, इस ट्रिगर सिस्टम का उद्देश्य पूर्व-परिभाषित नियमों को मानकर पारदर्शिता को बढ़ावा देना है, जो वायरस से उत्पन्न खतरे की परिस्थितियों में प्रांत की प्रतिक्रियाओं का मार्गदर्शन करेगा, संक्रमण के प्रसार को कम करेगा और पर्याप्त स्वास्थ्य सेवाओं की तैयारी करेगा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने विंडे के हवाले से कहा, हमने स्पष्ट रूप से ट्रिगर बिंदुओं की पहचान की है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि हमारी स्वास्थ्य प्रणाली जोखिमों की पहचान कर सके और पर्याप्त प्रतिक्रिया दे सके।

आधिकारिक आंकड़ों से पता चलता है कि पश्चिमी केप में अस्पतालों के सामान्य बिस्तर उपयोग दर 85 प्रतिशत है और इसकी कोविड-19 बिस्तर उपयोग दर 17 प्रतिशत है।

अधिकारी ने निवासियों को आश्वस्त किया कि प्रांत में कोविड-19 संक्रमणों की बढ़ती संख्या का जवाब देने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं और अपनी प्रतिक्रिया को और बढ़ाने में सक्षम है।

मंगलवार की सुबह तक दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के कुल 1,832,47 मामले दर्ज किए हैं, जिनमें से 16.9 प्रतिशत पश्चिमी केप से हैं। देश में मरने वालों की संख्या 58,795 है।

–आईएएनएस

एएसएन

You might also like

Comments are closed.