कोरोना काल में कृषि उत्पादों, वायदे में भी रहा उछाल, 39 फीसदी चढ़ा एग्रीडेक्स

नई दिल्ली, 11 अप्रैल (आईएएनएस)। कोरोना काल में खाने-पीने की चीजों की मांग बढ़ने से प्रमुख दलहनों, तिलहनों और मसालों के दाम में जोरदार इजाफा हुआ है, जिससे वायदा बाजार का कारोबार भी गर्म रहा है।

देश में कृषि उत्पादों का सबसे बड़ा वायदा बाजार नेशनल कमोडिटी एंड डेरीवेटिव्स एक्सचेंज (एनसीडीएक्स) पर कुछ प्रमुख कृषि उत्पादों का सूचकांक यानी एग्रीडेक्स अपने महज साढ़े 10 महीने के कारोबार के दौरान करीब 39 फीसदी का उछाल देख चुका है।

एनसीडीएक्स ने पिछले साल 25 मई को 10 लिक्विड कमोडिटीज के मूल्यों पर आधारित सूचकांक एग्रीडेक्स लांच किया था। इन 10 एग्री कमोडिटीज में सोयाबीन, रिफाइंड सोया तेल, चना, सरसों, धनिया, जीरा, कॉटनसीड ऑयलकेक, कॉटनसीड, ग्वारसीड और ग्वारगम हैं।

एनसीडीएक्स पर 27 मई को एग्रीडेक्स का निचला स्तर 1,005.25 था जबकि बीते सप्ताह यह 1,394 तक चढ़ा जोकि इसका अब तक का उच्चतम स्तर है। इस प्रकार, एग्रीडेक्स में अब तक 38.66 फीसदी का उछाल आ चुका है।

कमोडिटी बाजार के जानकार बताते हैं कि एग्रीडेक्स में आई जबरदस्त उछाल विभिन्न कृषि उत्पादों की कीमतों में वृद्धि की वजह से आई है और इसमें कहीं दो राय नहीं कि देश के किसानों को कोरोना काल में प्रमुख दलहनों, तिलहनों समेत कई नकदी फसलों का अच्छा दाम मिला है।

हालांकि तेल और तिलहनों के दाम में जोरदार इजाफा होने से उपभोक्ताओं पर महंगाई की मार पड़ी है। केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि एग्रीडेक्स में बेंचमार्क स्तर 1000 से अब तक 39 फीसदी की तेजी आई है जबकि 19 फीसदी की तेजी सिर्फ इस साल 2021 में आई है। उन्होंने कहा कि कृषि उत्पादों में सबसे ज्यादा तेजी तिलहनों में आई है, उसके बाद मसालों के दाम में भी काफी उछाल आया है।

–आईएएनएस

पीएमजे/एसजीके

You might also like

Comments are closed.