कैशिफाई ने भारतीय मोबाइल रिटेलर्स को सशक्त बनाने के लिए यूनीशॉप का किया अधिग्रहण

नई दिल्ली, 27 जुलाई (आईएएनएस)। री-कॉमर्स मार्केटप्लेस कैशिफाई ने घोषणा किया है कि उसने ओमनीचैनल रिटेल सॉल्यूशन प्लेटफॉर्म यूनीशॉप का अधिग्रहण किया है। हांलकि इस अधिग्रहण की राशि का फिलहाल कोई खुलासा नहीं हुआ है। देश भर में मोबाइल खुदरा विक्रेताओं को सशक्त बनाने के लिए नई सर्विस लाइन को फोनशॉप के रूप में रीब्रांड किया जाएगा।

कंपनी के सीओओ और सह संस्थापक नकुल कुमार ने कहा,छोटे व्यवसायों को ऑनलाइन लेने का अवसर अगली बड़ी ई-कॉमर्स लहर है। हम इसे अपनी टीम के विस्तार के रूप में देखते हैं और एक भागीदार के रूप में यूनिशॉप को लेकर उत्साहित हैं।

यूनीशॉप ने अपने कारोबार को ऑनलाइन करने में तीन लाख से अधिक छोटे व्यापारियों की मदद की है।

दूसरी ओर, कैशिफाई ने अब तक दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, बेंगलुरु और टियर 2 शहरों में 60 ऑफलाइन स्टोर खोले हैं, और 150 स्टोर तक बढ़ने की योजना है।

यूनीशॉप के संस्थापक हिताशी गर्ग ने कहा, यूनिशॉप और कैशिफाई दोनों में तालमेल देखा जा सकता है, जहां दोनों छोटे खुदरा विक्रेताओं को बड़े लड़कों के साथ प्रतिस्पर्धा करने में मदद करना चाहते थे। हमें कैशिफाई के साथ बड़े पैमाने पर ऐसा करने के विजन और विचार के लिए जोड़ दिया गया है।

पैशन के लीड टैलेंट एडवाइजर सनम रावल ने कहा, जब हम यूनीशॉप पहुंचे, तो हमने तुरंत टीम की प्रतिभा और उनके उत्पाद की क्षमता को देखा। हम उनके सोचने के तरीके से प्यार करते थे और जानते थे कि कैशिफाई एक अच्छा फिट होगा।

20 लाख से अधिक ग्राहकों के साथ, कैशिफाई एक सुव्यवस्थित और कुशल तरीके से कीमतों की खोज, हाथ में नकदी और ऐसी अन्य सुविधाओं के साथ उपयोगकतार्ओं की मदद करके उपकरणों के प्रबंधन की प्रक्रिया को सरल बनाता है।

–आईएएनएस

एनपी/आरजेएस

You might also like

Comments are closed.