कर्नाटक का लक्ष्य साल के अंत तक कोविड मुक्त हो जाना : स्वास्थ्य मंत्री

बेंगलुरू, 22 जून (आईएएनएस)। कर्नाटक को दिसंबर के अंत तक कोविड मुक्त बनाने की योजना के तहत के राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने सोमवार को कहा कि राज्य सरकार ने एक ही दिन में 5 से 7 लाख लोगों के टीकाकरण के लिए बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान शुरू किया है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर यहां लसिका महाअभियान (व्यापक टीकाकरण अभियान) शुरू करने के बाद, सुधाकर ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य दिसंबर के अंत तक प्रत्येक पात्र नागरिक का टीकाकरण करना और राज्य को कोविड -19 से मुक्त करना है। वर्ष, जिसके लिए राज्य इस तरह के और अधिक टीकाकरण अभियान शुरू करेगा।

उन्होंने सवाल के जवाब में कहा, एक ही दिन में पांच से सात लाख लोगों को टीका लगाना कोई समस्या नहीं होगी, क्योंकि राज्य के पास कोविशील्ड की लगभग 15 लाख खुराक और कोवैक्सिन की 6-7 लाख खुराक का भंडार है।

एक अन्य प्रश्न का उत्तर देते हुए, सुधाकर ने कहा कि दूसरी कोविड लहर के बाद, कोविड रोधी टीके के बारे में जागरूकता कई गुना बढ़ गई है।

मंत्री ने कहा, शुरुआती दिनों में जब टीकाकरण अभियान शुरू किया गया था, तब वैक्सीन में हिचकिचाहट थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है, क्योंकि लोगों ने महसूस किया है कि वैक्सीन उन्हें वायरस से बचाने का सबसे अच्छा तरीका है।

उन्होंने कहा कि कर्नाटक पहले ही राज्यभर के 13,000 टीकाकरण केंद्रों में 1.86 करोड़ से अधिक खुराक दे चुका है।

मंत्री ने कहा, भले ही हम प्रति केंद्र 70-80 लोगों को टीका लगाने में सफल हों, हम राज्य भर में एक दिन में पांच से सात लाख खुराक देने के अपने लक्ष्य को पूरा करेंगे। हालांकि, इस तरह के टीकाकरण अभियान की सफलता के लिए नागरिकों की सक्रिय भागीदारी महत्वपूर्ण है।

सुधाकर ने यह भी कहा कि राज्य सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आग्रह पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को चिह्न्ति करने के लिए इस त्वरित टीकाकरण अभियान को आयोजित करने का निर्णय लिया है।

–आईएएनएस

एसजीके

You might also like

Comments are closed.