ओलंपिक (महिला टेनिस) : स्विट्जरलैंड की बेलिंडा बेनसिक बनीं एकल चैंपियन

टोक्यो, 31 जुलाई (आईएएनएस)। नंबर-9 वरीयता प्राप्त बेलिंडा बेनसिक ने दो घंटे और 30 मिनट तक चले मुकाबले में चेक गणराज्य की गैर-वरीयता प्राप्त खिलाड़ी माकेर्टा वोंद्रोसोवा को 7-5, 2-6, 6-3 से हराकर टोक्यो ओलंपिक में टेनिस का महिला एकल खिताब जीत लिया।

स्विटजरलैंड के लिए यह टेनिस में तीसरा ओलंपिक स्वर्ण है।

इससे पहले, मार्क रॉसेट ने बार्सिलोना 1992 में पुरुष एकल में स्वर्ण जीता था और रोजर फेडरर और स्टेन वावरिंका ने बीजिंग 2008 में पुरुष युगल जीता था। इसके अलावा, फेडरर लंदन 2012 में पुरुष एकल रजत पदक विजेता थे, जबकि टिमिया बेसिंस्की और मार्टिना हिंगिस रियो 2016 में महिला युगल में रजत पर कब्जा किया था।

इस सीजन में एडिलेड और बर्लिन में अपने पिछले दोनों फाइनल हारने के बाद मॉस्को 2019 के बाद से बेलिंडा का पहला खिताब है।

इससे पहले, दुनिया की छठे नंबर की एलिना स्वितोलिना ने फाइनल सेट में 1-4 से पिछड़ने के बाद कजाकिस्तान की एलेना रयबाकिना को 1-6, 7-6 (5), 6-4 से हराकर कांस्य पदक जीता। यह ओलंपिक में यूक्रेन का पहला टेनिस पदक है।

–आईएएनएस

जेएनएस

You might also like

Comments are closed.