ऑस्ट्रेलिया ने फाइजर टीकाकरण के बाद नॉर्वे में हुई मौतों पर जानकारी मांगी

सिडनी, 18 जनवरी (आईएएनएस)। ऑस्ट्रेलियाई स्वास्थ्य मंत्री ग्रेग हंट ने कहा कि देश कोविड-19 के खिलाफ फाइजर-बायोएनटेक एमआरएनए वैक्सीन के टीकाकरण के बाद 29 बुजुर्ग नॉर्वेजियन रोगियों की मौतों पर तत्काल सूचना मांग रहा है।

हंट ने रविवार को कहा कि ऑस्ट्रेलियन चिकित्सीय प्रशासन कंपनी के साथ ही नॉर्वे के चिकित्सा नियामक से भी अतिरिक्त जानकारी मांगेगा।

ऑस्ट्रेलिया ने फाइजर वैक्सीन की एक करोड़ खुराक के लिए एक समझौता किया है।

सिडनी मॉर्निग हेराल्ड (एसएमएच) की एक रिपोर्ट के अनुसार, नॉर्वेजियन मेडिसिंस एजेंसी (नोमा) ने कहा है कि वे इस संभावना से इंकार नहीं कर सकते हैं कि बुखार और मिचली सहित टीकाकरण के दुष्प्रभावों ने मौतों में योगदान दिया है, मगर यह भी देखने वाली बात है कि देश में ऐसे बुजुर्ग लोगों का टीकाकरण किया गया है, जिन्हें गंभीर बीमारियां थीं।

एजेंसी ने एक बयान में कहा, इसलिए यह उम्मीद की जा रही है कि टीकाकरण के समय ही ये मौतें हुई हो सकती हैं।

नॉर्वे ने गंभीर अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थितियों वाले बुजुर्ग लोगों पर फाइजर वैक्सीन लगाने के बाद की सुरक्षा के बारे में चिंता व्यक्त की है।

नॉर्वे में 29 बुजुर्ग मरीजों की मौत के बाद सरकार फाइजर वैक्सीन के साथ अत्यधिक सावधानी बरत रही है।

वहीं फाइजर ने कहा है कि कंपनी वैक्सीन के लिए गंभीर एलर्जी प्रतिक्रियाओं की सभी रिपोर्टों की निगरानी और समीक्षा कर रही है।

कंपनी ने एक बयान में कहा, कुल मिलाकर, हमारे नैदानिक परीक्षणों (क्लीनिकल ट्रायल) में चिंता के कोई संकेत नहीं मिले थे।

कंपनी ने यह भी कहा कि उनकी वैक्सीन से जुड़ी गंभीर एलर्जी संबंधी दिक्कतों का भी कोई संकेत नहीं मिला है।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

You might also like

Comments are closed.