एनसीबी ने मुंबई में ड्रग्स फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया

मुंबई, 21 जनवरी (आईएएनएस)। मुंबई में ड्रग कार्टेल के खिलाफ बड़ी कार्रवाई में, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को भगोड़े अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कास्कर के लिंक मिले हैं। इस सिलसिले में एजेंसी ने मुंबई के डोंगरी में एक ड्रग्स फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया, जिसे करीम लाला का पोता परवेज खान ऊर्फ चिंकू पठान चला रहा था।

एनसीबी के अधिकारियों ने उसके सहयोगी एक अन्य किंगपिन आरिफ भुजवाला के परिसर से 2.18 करोड़ रुपये की नकदी भी बरामद की।

जांच से जुड़े एनसीबी के एक अधिकारी ने नाम न उजागर करने का अनुरोध करते हुए आईएएनएस को बताया, एनसीबी ने बुधवार को लाला के पोते चिंकू पठान को गिरफ्तार किया। लाला दाऊद इब्राहिम का मेंटर था।

अधिकारी ने कहा कि लाला मुंबई का मूल अंडरवल्र्ड डॉन था।

उन्होंने कहा, यह कार्टेल मूल रूप से पठानी गिरोह द्वारा चलाया जा रहा था और उनका दाऊद गिरोह के साथ भी संबंध है।

अधिकारी ने कहा कि चिंकू पठान का साझेदार भुजवाला महाराष्ट्र में ड्रग्स का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ताओं में से एक है।

यह कार्रवाई बुधवार सुबह तब शुरू हुई, जब एजेंसी के सदस्यों ने चिंकू पठान को उसके सहयोगी जाकिर हुसैन फजल हक शेख के साथ गिरफ्तार किया। साथ ही एजेंसी ने उसके निवास स्थान से 2.9 ग्राम हेरोइन और 52.2 ग्राम मेफ्रेडोन या एमडी जब्त किया।

एनसीबी की टीम ने चिंकू पठान के आवास से एक 9 एमएम पिस्तौल भी बरामद किया।

अधिकारी ने बताया कि इसी तरह के एक समानांतर छापे में, पेशे से डीजे और रैपर राहुल कुमार वर्मा को मुंबई के भिवंडी इलाके में पकड़ा गया।

अधिकारी ने कहा कि संदेह है कि डीजे को चिंकू पठान मेफ्रेडॉन की आपूर्ति करता था।

अधिकारी ने कहा कि लाला के पोते की गिरफ्तारी के बाद, एनसीबी को एक बड़ी सफलता हासिल हुई, क्योंकि ड्रग कानून प्रवर्तन टीम ने बुधवार शाम को डोंगरी इलाके में भुजवाला के निवास पर छापे मारे, जो गुरुवार की सुबह तक जारी रहा।

छापे के दौरान, एनसीबी टीम ने 2.18 करोड़ रुपये, एक रिवॉल्वर बरामद की। माना जा रहा है कि यह राशि मादक पदार्थों की तस्करी से जमा की गई थी।

अधिकारी ने कहा कि उसी इमारत में भुजवाला द्वारा संचालित एक गुप्त ड्रग प्रयोगशाला का भी भंडाफोड़ किया गया।

–आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

You might also like

Comments are closed.