Loading...

एनपीआर का उल्लंघन करने पर चुनाव नहीं लड़ पाएंगे अखिलेश : भाजपा मंत्री

Loading...

सहारनपुर, 12 जनवरी (आईएएनएस)| केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा है कि समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव अगर राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) प्रक्रिया का पालन नहीं करते हैं तो वह चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। सपा अध्यक्ष ने कहा था कि वह एनपीआर के फॉर्म नहीं भरकर एनपीआर को चुनौती देंगे।

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के लिए समर्थन लेने यहां आए बालियान ने शनिवार को कहा, “एनपीआर के बारे में झूठी अफवाहें फैलाई जा रही हैं। भारत क्या धर्मशाला है, जहां आने-जाने और रहने की इच्छा रखने वालों का कोई आंकड़ा न हो? क्या समस्या है? अखिलेश यादव कहते हैं कि वह एनपीआर के लिए नामांकन नहीं करेंगे। विपक्ष के अन्य नेता भी यही दावा कर रहे हैं। अगर आपने पंजीकरण नहीं कराया तो आपको चुनाव नहीं लड़ने दिया जाएगा।”

मंत्री ने आगे कहा, “मोदी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) और योगी (मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ) राज में कानून का राज है। संकट पैदा करने वालों से उसी प्रकार निपटा जाएगा।”

उन्होंने कहा कि इस बार सपा की सरकार नहीं आएगी, क्योंकि उन्होंने 2013 में मुजफ्फरनगर दंगे और 2014-15 में सहारनपुर दंगे कराए।

उन्होंने कहा, “अराजकता पैदा करने वाले व्यक्ति को परिणाम भुगतने होंगे।”

इससे पहले मुजफ्फरनगर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक विक्रम सैनी के एक बयान से विवाद पैदा हो गया था, जब उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान को भी ऐसे कानून बनाकर भारत में खुद को सताया हुआ महसूस करने वाले मुसलमानों को नागरिकता देनी चाहिए।

सैनी ने कहा था, “सीएए और एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर) देश के हित में हैं। पाकिस्तान में हिंदू और सिख कई दशकों से अत्याचार सह रहे हैं, और हम उन्हें आश्रय दे रहे हैं। मैं कहना चाहूंगा कि पाकिस्तान को भी मुस्लिमों के लिए ऐसा कानून बनाना चाहिए।”

 

Loading...

Comments are closed.