Loading...

उप्र, दिल्ली और पंजाब में 16 स्थानों पर आयकर छापेमारी

Loading...
नई दिल्ली, 20 नवंबर (आईएएनएस)। आयकर विभाग ने उत्तर भारत की एक प्रमुख पशु चारा उत्पादक कंपनी के मामले में शुक्रवार को कानपुर, गोरखपुर, नोएडा, दिल्ली और लुधियाना समेत 16 ठिकानों पर छापेमारी की। विभाग की ओर से अभी भी छापेमारी जारी है।

आयकर विभाग ने कहा कि पशु चारा उत्पादक कंपनी के खिलाफ आरोप है कि इसने दिल्ली की कुछ शेल कंपनियों से गैर-वास्तविक असुरक्षित ऋण के रूप में 100 करोड़ रुपये से अधिक की आवास प्रविष्टियां ली हैं।

छापेमारी के दौरान पता चला कि जिन शेल कंपनियों से ऋण लिया गया था, वे केवल कागज पर मौजूद हैं और उनका कोई वास्तविक व्यवसाय और साख नहीं है।

इन शेल कंपनियों के निदेशक डमी, गैर-फाइलर और बिना किसी साधन के व्यक्ति हैं। इन कंपनियों के निदेशकों में से एक को टैक्सी चालक के रूप में पाया गया है, जिसके 11 बैंक खाते हैं, जिसमें काफी पैसे जमा हैं। इससे साफ होता है कि इन शेल कंपनियों से असुरक्षित ऋण के रूप में 121 करोड़ रुपये से अधिक की आवास प्रविष्टियां फर्जी हैं।

छापेमारी के दौरान पशु चारा उत्पादक कंपनी के मुख्य व्यक्तियों के आवासों के निर्माण में बेहिसाब निवेश का खुलासा हुआ है। अब तक 52 लाख रुपये के सोने और हीरे के आभूषण बरामद किए गए हैं। साथ ही 1.30 करोड़ मिले हैं, जिन्हें सत्यापित किया जा रहा है। इसके साथ ही कुल सात लॉकर भी मिले हैं, जिनकी जांच चल रही है।

विभाग ने कहा कि आगे की जांच चल रही है।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

Loading...

Comments are closed.