Loading...

ईडी के तलब किए जाने के बाद क्वांरटीन हुए शिवसेना विधायक

Loading...
मुंबई, 25 नवंबर (आईएएनएस)। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से कथित रूप से 175 करोड़ रुपये के धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) घोटाले में पूछताछ के लिए तलब किए जाने के बाद शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने अपने आपको क्वारंटीन (एकांतवास) कर लिया है।

ईडी ने मंगलवार को सरनाईक के घर, दफ्तरों और उनके कारोबारी सहयोगियों समेत 10 ठिकानों पर छापा मारा था, जब वह गोवा में थे।

छापे के बाद, ईडी के अधिकारियों ने उनके बेटे विहंग को हिरासत में लिया और उसे अपने कार्यालय ले गए, जहां मंगलवार शाम तक विहंग से कम से कम चार घंटे तक पूछताछ की गई।

मंगलवार दोपहर गोवा से मुंबई के लिए रवाना हुए सरनाईक राज्य में लागू कोविड-19 नियमों के अनुसार, क्वांरटीन हो गए हैं।

उन्होंने ईडी के सामने पेश होने के लिए समय मांगा है और अनुरोध किया है कि उन्हें और उनके व्यवसायी बेटों को एक साथ पूछताछ के लिए बुलाया जाए। उन्होंने यह भी कहा है कि उनकी बहू (विहंग की पत्नी) को उच्च रक्तचाप के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अपनी तमाम बातें रखने के बाद सरनाईक ने कहा कि वह एक सप्ताह के बाद ही ईडी की जांच में शामिल हो पाएंगे।

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा नेता किरीट सोमैया ने पूछा कि क्या सरनाईक कोविद से डर रहे हैं या फिर उन्हें ईडी का डर है।

महाराष्ट्र में महागठबंधन महा विकास अघाड़ी (एमवीए) ने राजनीतिक विरोधियों को कथित तौर पर चुप कराने के लिए विभिन्न केंद्रीय जांच एजेंसियों को तैनात करने का आरोप लगाते हुए भाजपा और केंद्र पर निशाना साधा। एमवीए ने ऐसे समय पर सवाल उठाया जब सरनाईक हाल के महीनों में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत, रिपब्लिक टीवी के प्रमुख अर्नब गोस्वामी और अन्य के खिलाफ मुखर रहे हैं।

–आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Loading...

Comments are closed.