आत्महत्या करने के लिए उकसाने वाले तत्कालीन पुलिस निरीक्षक की गिरफ्तारी

मुंबई : पुणे समाचार

पुलिस और नेताओं से तंग आकर विरार के विकास झा ने वसई स्थित डीवाई एसपी कार्यालय के सामने आत्महत्या कर ली थी। उसके भाई अमित ने भी विकास को न्याय न मिल पाने से निराश होकर ज़हर पीकर आत्महत्या कर ली थी। इस मामले में विरार के तत्कालीन पुलिस निरीक्षक युनूस ख़ान को मुंबई से गिरफ्तार किया गया है।

विकास झा ने आत्महत्या करने से पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो क्लिप डाली थी जो काफी वायरल हुई थी। उसमें विकास ने कहा था कि वह विरार के पुलिस निरीक्षक युनूस ख़ान और मुनाफ बलोच से होने वाली प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या कर रहा है। उसके बाद विकास ने 10 नवंबर 2017 की शाम सात बजे वसई डीवाई एसपी कार्यालय के सामने खुद पर ज्वलनशील पदार्थ उड़ेलकर आत्महत्या कर ली। जिसके बाद भाई को न्याय न मिलने से हताश हुए विकास के भाई ने 20 जनवरी 2018 को ज़हर पीकर अपनी जान दे दी थी।

झा परिवार की शिकायत पर विकास की मौत के लिए जिम्मेदार नेता मुनाफ बलोच, मिथिलेश झा, अमर झा और पुलिस निरीक्षक युनूस शेख पर अपराध दर्ज किया गया था। इस मामले से जुड़े दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था लेकिन युनूस शेख और मुनाफ बलोच पुलिस के हत्थे नहीं चढ़े थे।

झा भाईयों की आत्महत्या के बाद झा परिवार के लोग ने सामूहिक आत्महत्या की धमकी भी दी थी। झा परिवार का कहना था कि जिस पुलिस वाले से तंग आकर अमित और विकास ने आत्महत्या कर ली उसे बचाया जा रहा है।