आईआईएफएल ने 11 लाख फ्रीज हो चुके कर्वी खातों का एक्टिवेशन शुरू किया

नई दिल्ली, 8 अप्रैल (आईएएनएस)। भारत की अग्रणी ब्रोकिंग एवं एडवाईजरी फर्म्स में से एक-आईआईएफएल सिक्योरिटीज लिमिटेड ने बताया कि 11 लाख फ्रीज हो चुके कर्वी डिमैट खाता धारक अब इसके प्लेटफॉर्म पर ट्रेड या निवेश कर सकते हैं।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज ने नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड एवं सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेस लिमिटेड के साथ कर्वी स्टॉक ब्रोकिंग धारित सभी डिमैट खातों के अधिग्रहण की आधिकारिक बोली जीत ली है।

11 लाख कर्वी डिमैट खातों के एस्सेट अंडर मैनेजमेंट 3 लाख करोड़ रुपये के हैं। फरवरी की शुरूआत में प्रारंभ हुई इस बिडिंग प्रक्रिया से 11 लाख निवेशकों की पीड़ाओं का अंत हो गया, जिनके खाते एक साल से ज्यादा समय से फ्रीज पड़े हुए थे।

इस जीत के बारे में संदीप भारद्वाज, सीईओ, रिटेल, आईआईएफएल सिक्योरिटीज ने कहा, मुझे सभी कर्वी खाताधारकों का स्वागत करते हुए बहुत खुशी हो रही है। अब उनके खाते आधिकारिक रूप से पुन: शुरू हो गए हैं और वो आईआईएफएल सिक्योरिटीज के साथ फिर से ट्रेडिंग व निवेश शुरू कर सकते हैं। सद्भावना के संकेत स्वरूप हमने आपके खाते पर पहले साल का वार्षिक मेंटेनेंस कॉन्ट्रैक्ट शुल्क हटा दिया है। साथ ही आईआईएफएल मार्केट मोबाईल द्वारा पहले 30 दिनों की ट्रेडिंग निशुल्क है।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज ने कर्वी डिमैट खाते पुन: शुरू करने के लिए सभी कर्वी डिमैट खाताधारकों को एक समर्पित वेब प्लेटफॉर्म-इंडियाइंफोलाइन डॉट कॉम और एक समर्पित नंबर (022-40075000) प्रस्तुत किया है।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज ईक्विटी, कमोडिटीज, करेंसी, म्यूचल फंड्स, फिक्स्ड डिपॉजिट्स एवं अन्य डेब्ट उत्पादों, पीएमएस आदि में निवेश सेवाएं प्रस्तुत करती है।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज भारत में अपनी मौजूदगी के 2500 से ज्यादा प्वाइंटस के साथ पूंजी बाजार के रिटेल व संस्थागत सेगमेंट्स की मुख्य कंपनी है और 225 से ज्यादा कंपनियों को अतुलनीय शोध कवरेज प्रदान करती है।

इस अधिग्रहण से आईआईएफएल सिक्योरिटीज जेरोधा एवं अपस्टॉक्स के बाद डिमैट खातों की ²ष्टि से भारत का तीसरा सबसे बड़ा ब्रोकर बन जाएगा। आईआईएफएल सिक्योरिटीज भारत की सबसे बड़ी स्वतंत्र सूचीबद्ध ब्रोकिंग फर्म है, जिसने 215 करोड़ रु. के राजस्व पर वित्तवर्ष 21 की तीसरी तिमाही में 51 करोड़ रुपये का प्रॉफिट आफ्टर टैक्स दर्ज किया।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज के पास 2.3 मिलियन से ज्यादा रिटेल ग्राहक और 500 से ज्यादा संस्थागत ग्राहक हैं तथा यह 2018-2020 की अवधि के लिए ईक्विटी आईपीओ में नंबर 1 बैंकर है। भारत में ब्रोकिंग उद्योग में टेक्नॉलॉजी से प्रेरित अभिनवताएं लाने में यह अग्रणी संगठनों में से एक है।

–आईएएनएस

जेएनएस

You might also like

Comments are closed.