सोशल मीडिया पर फिर ट्रोल हुए पार्थ; समर्थकों ने भी दिया मुंहतोड़ जवाब

0 37
पिंपरी : समाचार ऑनलाईन – उम्मीदवारी की चर्चा से लेकर प्रचार के हर मोड़ पर विवादों और टिप्पणियों से घिरे पार्थ पवार फिर से चर्चा में आ गए हैं। इस बार मंदिर में दर्शन लेते हुए ली गई एक तस्वीर से उन्हें सोशल मीडिया पर फिर ट्रोल किया जा रहा है। हालांकि इस बार पवार समर्थकों ने भी ट्रोल करनेवालों को मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स और समर्थकों के बीच छिड़ा ‘पोस्ट वॉर’ सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बना है।
क्या है मामला
तीन मिनट के भाषण, बिना ट्रैफिक के सभा स्थल तक लगाई दौड़, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए एकतरफा उल्लेख, उल्टी दिशा में लोकल ट्रेन का सफर जैसे कई मुद्दों पर ट्रोल हो चुके पार्थ पवार की एक तस्वीर खूब वायरल हो रही है। इसमें विरोधियों द्वारा दावा किया जा है कि वे जूते पहनकर मंदिर में भगवान के दर्शन कर रहे हैं। इस तस्वीर से उन्हें सोशल मीडिया पर फिर से ट्रोल किया जा रहा है कि, जूते पहनकर भगवान के दर्शन करनेवाले की जमानत तक जब्त हो जानी चाहिए। यही नहीं उन्हें महाराष्ट्र का ‘पप्पू’ कहकर भी ट्रोल किया जा रहा है।
क्या है सच्चाई
जिस तस्वीर को लेकर पार्थ को ट्रोल किया जा रहा है वह एक गणेश मंदिर की है। उसमें पार्थ ने काले रंग ल सॉक्स पहन रखा है। इसी काले रंग के सॉक्स ने ट्रोलर्स को मौका दे दिया है। ट्रोलर्स का कहना है कि पार्थ ने काले रंग के जूते पहन रखे हैं और उसे उतारे बिना ही मंदिर में चले गए और दर्शन किये। यदि फ़ोटो को गौर से देखें तो उनके पैरों में काले रंग का सॉक्स साफ साफ नजर आता है। मगर ट्रोलर्स उन्हें जूते बताकर पार्थ पर निशाना साध रहे हैं और उन्हें ट्रोल कर रहे हैं।
मिला मुंहतोड़ जवाब
सोशल मीडिया पर पार्थ पवार पर होनेवाले चौतरफा हमले को ध्यान में रख उनके समर्थक भी सोशल मीडिया पर एक्टिव हो गए हैं। इस बार तो समर्थकों की ओर से पार्थ को ट्रोल करनेवालों को मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। पार्थ समर्थकों और राष्ट्रवादी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने ट्रोल करनेवालों को अंधे भक्त बताकर उन्हें मोतियाबिंद का विकार जड़ने की बात कही है। मोतियाबिंद की वजह से अंध भक्तों को सॉक्स भी जूते नजर आ रहे हैं। इतना ही नहीं समर्थकों ने यह भी कहा है कि सुनेत्रा पवार (पार्थ पवार की माँ) हर साल मोतियाबिंद इलाज का शिविर आयोजित करती हैं वहां मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध है।
You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.